Facebook ला रहा है ऐसी डिवाइस जो मन की बातें सुनकर उन्हें कागज पर उतार देगी!

2019-08-01T14:59:48Z

अब जरा मन में भी आहिस्ता से सोचिएगा क्योंकि एक ऐसी डिवाइस आने वाली है जो आपके दिल की बातों को भी सुनकर उन्हें कंप्‍यूटर पर टाइप कर देगी।

सैन फ्रांसिस्को (आइएएनएस) जी हां हम बात कर रहे हैं एक ऑगमेंटेड रियलिटी यानि ए आर डिवाइस की जिसे सोशल मीडिया जायंट फेसबुक एक Brain-Computer के तौर पर विकसित कर रहा है। आईएएनस की रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक एक ऐसी डिवाइस पर काम कर रहा है जो कि किसी इंसान के दिमाग में आ रहे शब्दों को पढ़कर कंप्यूटर पर उन्हें वैसे ही टाइप कर देगी। ऐसी चौंकाने वाली डिवाइस के बारे में सबसे पहले साल 2017 में फेसबुक ने खुलासा किया था। कंपनी ने अपनी एफ8 डेवलपर्स कॉन्फ्रेंस में ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस प्रोग्राम के बारे में बताया था कि वो बॉडी पर पहने जाने वाली एक ऐसी डिवाइस बनाने जा रहा है जिसके द्वारा लोग अपने दिमाग में सिर्फ सोच कर ही टाइपिंग कर सकेंगे यानी कि यह डिवाइस आपके दिमाग में आने वाले हर एक शब्द को पढ़ सकेगी।

न्यूरोलॉजिकल बीमार लोगों के लिए बनाई गई तकनीक अब सबके आएगी काम
दरअसल फेसबुक कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में एक खास रिसर्च के लिए शोधकर्ताओं की एक टीम को सपोर्ट कर रहा है। इस रिसर्च प्रोजेक्ट में न्यूरोलॉजिकल डैमेज के कारण बोलने की क्षमता खो चुके मरीजों को उनके दिमाग की गतिविधियों के द्वारा रियल टाइम में बातचीत करने की तकनीक उपलब्ध कराई जा रही है। अब इसी तकनीक का इस्तेमाल करके फेसबुक ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस डिवाइस आम लोगों के लिए लाने की योजना बना रहा है जिसके द्वारा हम आप हर वह बात बिना बोले या लिखें कंप्यूटर पर फटाफट टाइप कर सकेंगे जिसे हम अपने मन में कह रहे हो या फिर बोलने की सोच रहे हो।

मन में बोले गए सभी शब्द और वाक्य अपने आप हो जाएंगे टाइप

फेसबुक के साइंटिस्ट माइकल अब्राश और उनकी रिसर्च टीम फेसबुक रियालिटी लैब्स में इस तकनीक पर जबरदस्त काम कर चुकी है इस टीम का कहना है कि हम जो ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस डिवाइस बना रहे हैं उसे शरीर में कहीं इंजेक्ट करने की जरूरत नहीं होगी सिर्फ बॉडी पर पहनकर लोग इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। इस टीम का कहना है कि उनके द्वारा डेवलेप की जा रही ब्रेन कंप्यूटर इंटरफेस डिवाइस शुरुआती स्तर पर मन में सोचे गए सभी कंप्लीट शब्द और वाक्यों को टाइप कर देगी, लेकिन जैसे जैसे यह और विकसित हो जाएगी लोग ज्यादा डिटेल्ड वोकैबलरी के साथ हर तरह के शब्द और वाक्य मन में सोच कर आसानी से और तेज गति से टाइप कर सकेंगे।

इसके लिए AR ग्लासेस हो सकते हैं उपलब्ध
टीम के मुताबिक यह तकनीक वाकई दुनिया बदलकर रख देगी यानी कि हम मन में कुछ भी कहने की सोच रहे होंगे वह बातें रियल टाइम में कंप्यूटर टाइप करके आपको दे देगा। हो सकता है कि आने वाले वक्त में कोई डिजिटल एआर ग्लासेस को पहन कर ही यह काम किया जा सके। यहां आसान भाषा में यह जान लीजिए कि एआर यानि ऑगमेंटेड रियलिटी डिवाइस क्या होती है। यह वो डिवाइस है, जो अपने आसपास दिखाई दे रही जगह, बिल्डिंग या लोगों को देखकर तुंरत पहचान लेती है और उनके बारे में ऑटोमेटिक बहुत कुछ बताने लगती है। फिलहाल मन में सोच कर टाइप करने वाली इस डिवाइस को बना रही टीम का मानना है कि हम इस तकनीक को उस लेवल तक ले जायेंगे जब यह प्रति मिनट मन में सोचे गए 100 शब्दों को डिकोड करके टाइप कर देगी और इस टाइप किए गए मैटर की एक्यूरेसी 83 परसेंट से ज्यादा होगी।


Posted By: Chandramohan Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.