वकीलों का शामली कूच कचहरी में पसरा सन्नाटा

2018-05-25T06:00:08Z

-खुले रहे कोर्ट, कामकाज प्रभावित

Meerut : वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट की बेंच की मांग को लेकर गुरुवार प्रात: सैंकड़ों अधिवक्ता शामली रवाना हुए। अधिवक्ता यहां सीएम योगी आदित्यनाथ की रैली में अपनी मांग को बुलंद करने के लिए पहुंचे तो वहीं कचहरी परिसर में गुरुवार सन्नाटा पसरा रहा। कोर्ट खुले थे किंतु यहां अघोषित हड़ताल जैसा माहौल नजर आ रहा था।

सुबह हुए रवाना

पश्चिमी उत्तर प्रदेश हाईकोर्ट बेंच संघर्ष समिति के चेयरमैन राजेंद्र सिंह जानी और संयोजक देवकी नंदन शर्मा के नेतृत्व में गुरुवार मेरठ कचहरी से सैंकड़ों अधिवक्ता शामली के लिए रवाना हुए। 12 बसों और दो दर्जन से अधिक कारों में लगभग 600 वकीलों ने हाईकोर्ट बेंच समर्थन में जबरदस्त नारेबाजी करते हुए कचहरी के गेट से शामली के लिए कूच किया। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 22 जनपदों से पहुंचे अधिवक्ता शामली स्थित वैष्णो धाम में एकत्र हुए। मेरठ से पूर्व अध्यक्ष एमपी शर्मा, अशोक शर्मा, गजेंद्र धामा, प्रबोध शर्मा, संजय शर्मा सहित सैंकड़ों अधिवक्ता आंदोलन में शामिल हुए।

ठप रहा कामकाज

अधिवक्ताओं के शामली कूच से गुरुवार कचहरी में सन्नाटा पसरा रहा। ज्यादातर न्यायालय खुले थे किंतु केसेज की पैरवी वकीलों के न होने के चलते नहीं हो पाई। कचहरी में अघोषित हड़ताल जैसी स्थिति नजर आ रही थी।

हाईकोर्ट बेंच की मांग को लेकर वकील शामली गए हैं। इसके चलते न्यायिक कार्य ठप है।

जहीरुद्दीन

वकीलों के शामली कूच के चलते न्यायिक कार्य ठप रहा है। केसों की सुनवाई भी नहीं हुई।

साजिद

ज्यादातर पैरोकार केस की सुनवाई न होने पर वापस लौट गए। कचहरी में कामकाज पूरी तरह ठप रहा।

मोहम्मद नईम

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.