किसान आंदोलन के 17वें दिन ये रास्ते बंद, दिल्ली पिकेट टोल प्लाजा पर पुलिस बल तैनात माहाैल बिगाड़ने वालों पर ड्रोन से रहेगी नजर

नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन काफी तेज होता जा रहा है। आज 17 वें दिन में किसानों ने पिकेट टोल प्लाजा को बंद करने के लिए कमर कस ली। ऐसे में प्रशासन आज यहां करीब 3500 पुलिस कर्मियों को तैनात करने की तैयारी में हैं। वहीं ऊपर से नजर रखने के लिए एक ड्रोन पहरे पर होगा। ट्रैफिक पुलिस ने भी यात्रियों को बंद और खुले मार्गों की जानकारी दी।

Updated Date: Sat, 12 Dec 2020 11:43 AM (IST)

नई दिल्ली (एएनआई)। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों और केंद्र सरकार के बीच बने गतिरोध के बीच किसानों का विरोध आज 17 वें दिन में प्रवेश कर गया है। इस बीच, किसानों ने आंदोलन को तेज करते हुए दिल्ली में सीमा पर राजमार्ग और पिकेट टोल प्लाजा को बंद करने के लिए कमर कस ली। इस दाैरान फरीदाबाद पुलिस ने कहा कि टोल बूथों की सुरक्षा और यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। एक बयान में कहा गया कि क्षेत्र के पांच टोल प्लाजा पर 3,500 पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाएगा। बदरपुर बॉर्डर, गुरुग्राम फरीदाबाद, कुंडली-गाजियाबाद-पलवल, पाली क्रेशर जोन और धौज टोल प्लाजा पर आंदोलन की आड़ में कानून-व्यवस्था को बाधित करने वाले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कड़ी नजर रखेगी। स्टेशन हाउस अधिकारियों और संबंधित पुलिस स्टेशनों के पुलिस रिजर्व बल को भी तैनात किया जाएगा और कर्मियों को दंगा-रोधी उपकरणों से लैस किया जाएगा। ऊपर से नजर रखने के लिए एक ड्रोन पहरे पर होगा। एक बयान में पुलिस उपायुक्त अर्पित जैन के हवाले से कहा गया है, हम सभी का सम्मान करते हैं लेकिन अगर कानून-व्यवस्था किसी भी तरह से भंग होती है, तो पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Traffic Alert,
The chilla & Gazipur borders are closed for traffic from Noida & Gaziabad to Delhi due to farmers protests.People are advised to take alternate route for coming to Delhi via Anad Vihar, DND, Apsara & bhopra borders.

— Delhi Traffic Police (@dtptraffic) December 12, 2020


ट्वीट कर वैकल्पिक मार्ग की दी जानकारी
वहीं शनिवार को किसानों ने दिल्ली की सीमाओं से सटे कई मार्ग बंद कर दिए हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने इस संबंध में यात्रियों को वैकल्पिक मार्ग की जानकारी देते हुए ट्वीट किया कि हरियाणा के लिए झारोदा (केवल सिंगल कैरिजवे / रोड), दौराला, कापसहेड़ा, बदुसराय, राजोखरी एनएच 8, बिजवासन / बजघेरा, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर पर उपलब्ध हैं। वहीं टिकरी, धनसा बॉर्डर किसी भी ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद हैं। झटीकरा बॉर्डर केवल दोपहिया और पैदल यात्रियों के लिए खुला है। किसानों के विरोध के कारण नोएडा और गाजियाबाद से दिल्ली के लिए यातायात के लिए चीला और गाजीपुर सीमाएं बंद हैं। लोगों को आनंद विहार, डीएनडी, अप्सरा और भोपड़ा सीमाओं के माध्यम से दिल्ली आने के लिए एक वैकल्पिक मार्ग लेने की सलाह दी जाती है। सिंघू, औचंदी, पियू मनियारी और मंगेश बॉर्डर बंद हैं। लामपुर, सफियाबाद, सबोली और सिंघू स्कूल टोल टैक्स सीमाओं के माध्यम से वैकल्पिक मार्ग का सहारा लिया जा सकता है। यातायात को मुक्काबा और जीटीके रोड से मोड़ दिया गया है। आउटर रिंग रोड, जीटीके रोड, एनएचके रोड से बचें।

Traffic update: Tikri, Dhansa Borders are closed for any Traffic Movement.
Jhatikara Borders is open only for two wheelers and pedestrian movemen

— Delhi Traffic Police (@dtptraffic) December 12, 2020

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.