बिहार बेरहम पिता ने महज 15 हजार रुपए में नवजात को बेचा

2019-04-08T11:55:31Z

बेरहम पिता ने अपने नवजात को सिर्फ 15000 रुपये में बेच दिया।। दो बार लगी नवजात की बोली अंत में मां को मिली लाश। नवजात का शव श्मशान घाट से बरामद पिता सहित तीन गिरफ्तार।

patna@inext.co.in
PATNA : पटना के बाढ़ अनुमंडल क्षेत्र स्थित बाजिदपुर मोहल्ले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। एक बेरहम पिता ने अपने ही नवजात बच्चे को महज 15 हजार रुपए में दलालों के हाथ बेच दिया। दलालों ने भी उस बच्चे को 50 हजार रुपए में बेच दिया। बच्चे की देखरेख नहीं होने से उसकी मौत हो गई। बाद में दलालों ने उसे श्मशान घाट में दफना दिया। पुलिस ने नवजात की चोरी के आरोप में पिता ललन वर्मा, दलाल कंचन देवी और खरीददार निजी क्लिनिक का संचालक कलिंदर साव को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पिता पत्नी के साथ मारपीट कर मामले को रफा-दफा करने की फिराक में था लेकिन पत्नी की चालाकी के कारण आरोपी पिता गिरफ्तार हो गया।

जान से मारने की दी धमकी
अपने पति द्वारा बच्चे को बेचने की जानकारी जब संगीता देवी को हुई तो उन्होंने विरोध किया। इस पर पति ने जान से मारने की धमकी तक दे डाली लेकिन इन सब का परवाह किए बिना संगीता देवी ने शनिवार को थाने पहुंचकर अपने 10 दिन के नवजात को पति द्वारा बेचने का आरोप लगाया था। महिला ने पति पर पैसे की लालच में दूसरे के हाथों बेचने की बात कही थी। इसमें भवानीचौक के एक दंपती के शामिल होने का भी आरोप लगाया था।

बच्चे के साथ गायब हो गया था पिता

नगर थाने के बाजिदपुर निवासी संगीता देवी ने अनुमंडल अस्पताल में एक पुत्र को जन्म दिया था। जन्म के बाद वह बच्चे के साथ घर लौट आई। 31 मार्च को संगीता का पति ललन वर्मा रात को बच्चे के साथ गायब हो गया। ललन वर्मा ने बाजीदपुर निवासी शशि पासवान की पत्नी कंचन देवी के हाथों 15 हजार रुपये में नवजात को बेच दिया। पीडि़ता संगीता देवी की शिकायत के बाद पुलिस ने शनिवार को कार्रवाई करते हुए आरोपित ललन को गिरफ्तार कर लिया।
महिला ने किया 50 हजार का सौदा
गिरफ्तारी के बाद पहले तो पिता टालमटोल करता रहा, लेकिन सख्ती बरते जाने के बाद उसने नवजात को कंचन देवी के हाथों बेचने की बात स्वीकार कर ली। पुलिस ने कंचन को भी दबोच लिया तो उसने कई खुलासे किए। पूछताछ के दौरान कंचन ने पुलिस को बताया कि उसने बच्चे को निजी क्लिनिक के संचालक नदावा निवासी कलिंदर साव को 50 हजार रुपये में बेच दिया। आरोपी महिला ने बताया कि अभी उसे 30 हजार रुपये ही मिले हैं। शेष राशि क्लिनिक संचालक ने कुछ दिनों में देने का आश्वासन दिया ह
महज 10 दिन का था बच्चा
कंचन के बयान पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए निजी क्लिनिक संचालक कलिंदर साव को गिरफ्तार कर थाने ले आई। थानाध्यक्ष संजीत कुमार ने बताया कि क्लिनिक संचालक कलिंदर साव ने पूछताछ के दौरान स्वीकार किया कि उसने 30 हजार रुपये में कंचन देवी से बच्चे को खरीदा था। उस समय बच्चा महज आठ-दस दिन का था। बच्चे को बीमारी थी, जिसे पटना के हनुमान नगर स्थित एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया।
कब्र में मिली बच्चे की लाश
आरोपी ने पुलिस को बताया कि बच्चे की इलाज के दौरान अस्पताल में छह अप्रैल को मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद उसे सती स्थान स्थित श्मशान घाट पर दफना दिया। पुलिस मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में कब्र की खुदवाई करा बच्चे का शव बरामद कर लिया। शहर में पूरे दिन घटना की चर्चा होती रही। हर कोई बच्चे के पिता ललन की करतूत से हतप्रभ रह गया।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.