हार का डर ही आपको आगे बढ़ने से रोकता है जानें इससे निपटने का तरीका

2018-09-13T11:52:02Z

ज्यादातर लोग अपना लक्ष्य हासिल करने की हिम्मत ही नहीं जुटा पाते क्योंकि वह डरते हैं कि अगर में असफल हुआ तो क्या होगा?

features@inext.co.in

एक हास्य कलाकार रेडियो स्टेशन में काम करता था। उसका प्रोग्राम काफी लोकप्रिय था। एक दिन उसके पास एक अखबार से फोन आया कि वे उसपर लेख लिखना चाहते हैं। इंटरव्यू पूरा हुआ तो उससे पूछा गया कि आप आगे क्या करने की सोच रहे हैं? तब तक उसने अपने भविष्य के बारे में कुछ भी नहीं सोचा था। एकदम से उसके मुंह से निकला कि मैं सबसे तेज बोलने का गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड बनाना चाहता हूं।

अगले दिन अखबार में वह लेख छपा, उसी दिन शाम को उसके पास एक शो का ऑफर आया। शो के संचालक चाहते थे कि उनके प्रोग्राम पर उसी रात रिकॉर्ड तोड़ने की कोशिश की जाए। उसने पहले कभी शो का नाम नहीं सुना था। बताया गया कि वह नेशनल टेलीविजन का बड़ा शो था। किसी के लिए भी यह जिंदगी का ऐसा मौका था, जो दोबारा नहीं मिलने वाला था।

उसने शो के संचालक को अपनी सहमति दे दी। फोन रखने के साथ ही वह सोच में पड़ गया कि मैं शो पर क्या करूंगा। वह घबराया हुआ था और उत्साहित भी। रात 8 बजे गाड़ी उसे लेने आ गई। वह पूरे रास्ते अभ्यास करता रहा। पर स्टूडियो पहुंचने पर उसकी बोलती बंद हो गई। उसके मन में कई सवाल उमड़ रहे थे कि अगर मैं रिकॉर्ड न तोड़ पाया तो? यहां भी सबसे बुरा क्या हो सकता है, यह कि मैं नेशनल टेलीविजन पर एक मूर्ख जैसा लगूंगा और इसके उलट मैंने रिकॉर्ड तोड़ दिया तो। मन में इन सवाल-जवाबों के बीच वह परीक्षा की उस घड़ी में कूद गया। शो खत्म होने तक वह 1 मिनट में 585 शब्द बोलकर सबसे तेज बोलने वाला पुरुष बन चुका था।

लक्ष्य हासिल करने की हिम्मत जुटाएं


फ्रेंड्स, ज्यादातर लोग अपना लक्ष्य हासिल करने की हिम्मत ही नहीं जुटा पाते क्योंकि वह डरते हैं कि अगर में असफल हुआ तो क्या होगा? जब कभी आत्मविश्वास डगमगाए तो अपने आपसे यही सवाल पूछें कि अगर सफल नहीं हुए तो ज्यादा से ज्यादा बुरा क्या हो सकता है? साथ ही यह भी सोचें कि अगर जीत गए तो? जिस पल दिलो-दिमाग बुरे के लिए तैयार होंगे, समझ जाइए उसी पल आधी जीत तो पक्की हो गई।

काम की बात


1. खुद को असफलता के डर से दूर रखें और हर चुनौती के लिए तैयार रहें।

2. आत्मविश्वास डगमगाए तो खुद से पूछें कि अगर सफल नहीं हुआ तो ज्यादा से ज्यादा बुरा क्या हो सकता है?

 

किसी समस्या का समाधान कैसे निकालना चाहिए? इस सच्ची घटना से जानें

अगर बार-बार असफल हो रहे हैं तो इस सच्ची कहानी से मिल सकती है जीत का मंत्र

 

 

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.