Intermediate Prctical की कॉपियां राख

2013-03-30T22:22:20Z

Patna वो तो छुट्टी थी वरना अगर वर्किंग डे होता तो कितनों की जान भी जा सकती थी बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड की बिल्डिंग में शनिवार को शार्ट सर्किट से आग लग गई पर इस हादसे ने पूरी बिल्डिंग के मेंटेनेंस और फायर सिस्टम की पोल खोल दी है

ध्वस्त है फायर सिस्टम
इस आग में कुछ इंपॉर्टेंट डॉक्यूमेंट्स और इसी साल लिए गए इंटरमीडिएट एग्जाम की प्रैक्टिकल की कॉपियां जल गईं. ऑफिस बंद था, इसलिए बड़ा हादसा होते-होते बच गया. पूरी बिल्डिंग का एंटी फायर सिस्टम खत्म है. वहां लगे सभी फायर स्टिंग्विशर की रीफिंलिंग डेट फेल हो चुकी थी. ये सिर्फ बिल्डिंग की शोभा बढ़ा रहे थे. लोगों ने पानी से आग बुझाना शुरू किया, जिसके कुछ देर बाद फायर ब्रिगेड की चार गाडिय़ां पहुंची, तब तक स्टूडेंट्स की कॉपियां जलकर खाक हो चुकी थीं. वहां के स्टाफ की मानें, तो यह आग ट्यूब लाइट से शार्ट सर्किट से लगी.


चार साल से भगवान भरोसे
बिल्डिंग में लगे फायर स्टिंग्विशर की रीफिलिंग डेट चार साल पहले ही एक्सपायर हो चुकी है. फायर स्टिंग्विशर पर रीफिलिंग डेट 4 अगस्त 2008 है, जबकि नेक्स्ट रीफिंलिंग की डेट 3 अगस्त 2009 दर्ज थी. खास बात यह कि इस दौरान एक बार भी उसका इंस्पेक्शन नहीं किया गया है. इस कॉलम में भी नॉट अवेलेबल लिखा है. यही नहीं, बिहार बोर्ड में लगे फायर अलार्म कंट्रोल पैनल की स्थिति भी खराब है. इसके सारे स्विच तो खराब हैं ही, इमरजेंसी बटन भी बेकार थे.

हो सकता था बड़ा हादसा
बिल्डिंग के सिक्स्थ फ्लोर की गोपनीय शाखा में आग लगी थी. वहां अगर आग ज्यादा भड़कती, तो फिर काबू पाना भी मुश्किल था. दरअसल, ऊंचाई अधिक होने के साथ-साथ फायर ब्रिगेड की जो भी गाडिय़ां वहां पहुंची थी, उसमें किसी में भी हाइड्रोलिक नहीं था. ऐसे में सिक्स्थ फ्लोर तक पानी पहुंचने में ही परेशानी होती ही. वो तो गनीमत है कि आग छुुट्टी के दिन लगी. वर्किंग डे में लगती, तो बड़ा हादसा हो सकता था. शहर के बीचों-बीच इतनी बड़ी बिल्डिंग जहां डेली हजारों लोग आते-जाते हैं, उसकी सिक्योरिटी इस तरह राम भरोसे है, तो पता नहीं कब क्या हो जाए.

कॉपियों की हो चुकी है मार्किंग
इस आग में हजारों की संख्या में स्टोर कर रखी गई कॉपियां जल गईं. आधी जली कुछ कॉपियों में दिए गए माक्र्स दिख रहे थे. हालांकि बोर्ड के सेक्रेटरी ललन झा ने दावा किया कि एग्जामिनीज के मार्कशीट सेफ हैं, कॉपियों के जलने से कोई फर्क नहीं पड़ता. हालांकि फायर सेफ्टी के मामले पर वे कुछ भी नहीं बोले.
आग ट्यूब लाइट प्वाइंट के शॉर्ट सर्किट से लगी थी. बिल्डिंग के एंटी फायर सिस्टम के मेंटेनेंस का जिम्मा किसके पास है, इसकी मुझे जानकारी नहीं है. वैसे जो कॉपियां जली हैं, उसके मार्कशीट पहले ही तैयार किए जा चुके हैं.
ललन झा
सेक्रेटरी, बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.