गोदाम में लगी आग चार घंटे दहशत में रहे मोहल्लावासी

2019-02-09T06:00:49Z

- चर्चित पटाखा कारोबारी सुल्तान के बेटे कर रहे कारोबार

- दमकल की आठ गाडि़यों ने चार घंटे में आग पर किया काबू

GORAKHPUR: कोतवाली के नखास चौक के पास पॉश इलाके में कॉस्मेटिक गोदाम में लगी आग से घंटों अफरा-तफरी मची रही। करीब चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद दमकल की आठ गाडि़यों ने आग की लपटों को शांत किया। घटना में करीब 50 लाख रुपए का सामान जलने का अनुमान है। गोदाम मालिकों ने होली की तैयारी में पिचकारियों, तेल, घी और कपूर सहित अन्य सामग्री का भारी स्टॉक मंगाया था। शहर के चर्चित पटाखा कारोबारी सुल्तान के बेटों के गोदाम में आग लगने पर अवैध पटाखा स्टॉक जमा करने पर हुई घटना बताकर लोग चर्चा करते रहे। पुलिस की छानबीन में गोदाम के भीतर से पटाखों में आग लगने के कोई सबूत नहीं मिले। सीओ कोतवाली ने बताया कि सिर्फ कॉस्मेटिक्स के सामान रखे हुए थे। शॉर्ट सर्किट से आग लगने की आशंका जताते हुए मामले की छानबीन की बात कही। उन्होंने कहा कि गोदाम की वीडियोग्राफी कराई गई है। पटाखा रखने की पुष्टि नहीं हो सकी है।

दूसरी मंजिल से सुबह चार बजे उठी लपटें

इलाहीबाग मोहल्ला निवासी सुल्तान के दो बेटे मोहम्म शाहिद और रेहान खान की अलग-अलग फर्म हैं। नखास चौक स्थित तीन मंजिला मकान में रेहान खान ने बुद्धन जी ट्रेडर्स और मोहम्मद शाहिद ने एमएसआर ट्रेडर्स नाम से गोदाम बनाया है। ग्राउंड फ्लोर पर कॉस्मेटिक्स की शॉप चलाते हैं। दोनों भाइयों का कपूर, पिचकारी, तेल, रिफाइंड आयल सहित कई चीजों का बिजनेस है। रेहान का गोदाम मकान की दूसरी मंजिल पर है। शुक्रवार की भोर में करीब चार बजे आसपास के लोगों ने दूसरी मंजिल से धुआं उठता देखकर शोर मचाया। दुकान पर लगे बोर्ड को पढ़कर लोगों ने रेहान को कॉल किया। लेकिन अल सुबह फोन आने पर रेहान ने काल रिसीव नहीं किया। तब आसपास के लोगों ने डॉयल 100 को कॉल करके आग लगने की सूचना दी। गोदाम के भीतर पटाखे छिपाकर रखने की आशंका में कोतवाली पुलिस और फायर ब्रिगेड की गाडि़यां पहुंच गई।

फोन न उठाने पर रेहान के घर पहुंचे लोग

मोहल्ले का एक व्यक्ति बाइक से रेहान के घर पहुंचा। दुकान में आग लगने की बात बताई तो वह अपने परिवार के लोगों संग शॉप पर पहुंच गया। दमकल की गाडि़यां आग को काबू करने की कोशिश कर पातीं इसके पहले आग की लपटें गोदाम से बाहर निकलने लगीं। गोदाम में रखा सामान जलने से आवाज आने पर लोगों ने पटाखा होने की संभावना जताई। शीशे तोड़कर अग्निशमन दल ने किसी तरह से लपटों को शांत करने की कोशिश की। करीब चार घंटे के बाद दमकल की आठ गाडि़यां आग को काबू कर सकीं। लेकिन तब तक गोदाम में रखा सारा माल जलकर राख हो चुका था। बचाखुचा सामान पानी की बौछार से नष्ट हो गया। दुकान मालिक और पुलिस ने आशंका जताई कि दूसरी मंजिल पर शॉर्ट सर्किट से आग लगी। गोदाम में रखे कपूर सहित अन्य प्लास्टिक के सामानों ने आग को बढ़ने में मदद की। अगलगी में 200 गत्ता कपूर, दो ट्रक प्लास्टिक की पिचकारी, तेल, रिफाइंड ऑयल सहित भारी मात्रा में कॉस्मेटिक्स के सामान जलने पर करीब 50 लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

चार घंटे दहशत में रहे आसपास के लोग

पॉश कालोनी में बने गोदाम में आग लगने से मोहल्ले में लोग करीब चार घंटे तक दहशत में रहे। पटाखों का अवैध गोदाम होने की आशंका में लोग आग बुझने तक भयभीत बने रहे। बताया जाता है कि हर साल दीपावली में सुल्तान के गोदाम पर पुलिस छापेमारी करती है। आरोप है कि हर बार उसके गोदाम में पटाखों का स्टॉक मिलता है। इसलिए लोग बार-बार गोदाम में भारी मात्रा में पटाखा छिपाए जाने की बात कर रहे थे। हालांकि आग के बाद गोदाम के पहली और दूसरी मंजिल पर बारूद की गंध नहीं मिली। कोतवाली पुलिस ने पटाखों का स्टॉक रखे होने से इंकार किया। सीओ ने बताया कि पटाखा जलता तो उसकी गंध आग बुझने के घंटों बाद तक महसूस की जाती। फिलहाल ऐसा कोई सबूत सामने नहीं आया। फिर भी मामले की जांच पड़ताल की जा रही है। प्रशासनिक अफसरों ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर जांच पड़ताल की।

वर्जन

कॉस्टमेटिक्स शॉप के गोदाम में आग लगी थी। होली की बिक्री के लिए रखा सामान जलकर राख हो गया। पटाखों के संबंध में पड़ताल की गई। लेकिन अभी तक कोई सबूत नहीं मिला। चार बजकर 20 मिनट पर हमारी टीम पहुंच गई थी। आग बुझाने के बाद पूरे दुकान की वीडियोग्राफी कराई। बचे हुए सामान और गत्तों को खोलकर देखा गया लेकिन पटाखों से संबंधित कोई वस्तु नहीं मिली।

- वीपी सिंह, सीओ कोतवाली

होली के लिए दो ट्रक पिचकारी मंगाई गई थी। तेल, फॉच्र्यून सहित कई सामान थे। गोदाम में करीब 50 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। गोदाम में पटाखा होने पर प्रशासन अभी तक हम लोगों को यहां खड़ा नहीं होने देता। कुछ लोगों ने अफवाह फैलाकर बदनाम करने का प्रयास किया है।

- सुल्तान, गोदाम मालिक


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.