पिकअप भवन में लगी भीषण आग

2019-07-04T06:01:04Z

- ए ब्लॉक के सेकंड फ्लोर में लगी ऑफिस, फाइनेंस सेक्शन का ऑफिस जला

- आग ने पांचवें फ्लोर तक को चपेट में लिया

- डेढ़ घंटे बाद पहुंची हाईड्रोलिक फायर ब्रिगेड, 12 फायर टेंडर लगाई गई

LUCKNOW@inext.co.in

LUCKNOW : विभूतिखंड स्थित पिकअप भवन में बुधवार देर शाम रहस्यमय हालत में आग लग गई। आग पिकअप भवन के ए ब्लाक के सेकेंड फ्लोर स्थित औद्योगिक विकास व पिकअप के फाइनेंस ऑफिस में लगी। आग की शुरुआत कार्यालय के फाइनेंस सेक्शन से शुरु हुई और देखते देखते आग भवन के पाचवें मंजिल तक पहुंच गई। पिकअप भवन में कई सरकारी मुख्यालय ऑफिस है। आग की सूचना से हड़कंप मच गया। सूचना पाकर कई विभागों के अधिकारी, एसएसपी, कई थानों का फोर्स और फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंच गई। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पूरी तरह काबू पा लिया गया है। सीएम ने पिकअप भवन में आग लगने के कारणों की जांच बैठाते हुए 48 घंटे के भीतर रिपोर्ट पेश करने निर्देश भी दिए हैं।

आग की सूचना देने में की गई देरी

पिकअप भवन में तीन ब्लाक है। ए ब्लॉक, बी-1 और बी-2 ब्लॉक। बुधवार देर शाम करीब 7.15 बजे ए ब्लॉक के सेकेंड फ्लोर में आग लगने की जानकारी 100 नंबर पर पुलिस को मिली। सूचना पाकर विभूतिखंड पुलिस के साथ-साथ फायर ब्रिगेड की कई गाडि़यां करीब तीन मिनट बाद मौके पर पहुंची। शुरुआत में फायर टेंडर ने आग बुझाने का असफल प्रयास किया लेकिन आग ने विकराल रुप से लिया और सेकेंड फ्लोर से बढ़ते हुए आग तीसरे तल तक पहुंच गई। हादसे के साथ तीनों ब्लॉक में करीब आधा दर्जन सिक्योरिटी गार्ड सुरक्षा में मौजूद थे। बताया जा रहा कि पहले सुरक्षा कर्मियों ने खुद आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन हालात बिगड़ने पर पुलिस व फायर को सूचना दी। समय के साथ हालत बिगड़ते चले गए।

पिकअप में आग से अफसरों में मचा हड़कंप

पिकअप भवन में सेकेंड फ्लोर पर लगी आग सूचना सुरक्षा कर्मियों ने ऑफिस के अफसरों को दी। जिसके बाद कुछ ही देर में पिकअप भवन में स्थित सरकारी मुख्यालय के कई अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। सूचना पाकर एसएसपी कलानिधि नैथानी, एसपी नार्थ कीर्ति माधव, सीओ गोमती नगर एके श्रीवास्तव, सीओ गाजीपुर दीपक कुमार सिंह, सीओ हजरतगंज अभय मिश्र, इंस्पेक्टर गोमती नगर, चिनहट, गाजीपुर समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंच गया।

दो घंटे के बाद पहुंची हाईड्रोलिक फायर टेंडर

पिकअप भवन की आग सेकेंड से तीसरे और फिर चौथे व पांचवें तल तक पहुंच गई। करीब एक दर्जन से ज्यादा फायर टेंडर आग बुझाने में कामयाब नहीं हो सकी। जिसके बाद रात करीब 8.50 बजे हजरतगंज से हाईड्रोलिक फायर टेंडर को बुलाया गया। हाईड्रोलिक फायर टेंडर से दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें मंजिल पर फोर्स से पानी की बौछार की गई। रात करीब 10 के बाद आग पर पूरी तरह से काबू पाया गया।

अग्निकांड में साजिश की भी संभावना

पिकअप के तीसरे तल पर उप्र अधीनस्थ चयन सेवा आयोग का भी कार्यालय है। भर्तियों में हुए घोटालों को लेकर अधीनस्थ चयन सेवा आयोग सुर्खियों में रहा है। भर्ती में धांधली से जुड़े अहम दस्तावेजों को आग के हवाले किये जाने की भी आशंका है। अग्निकांड के पीछे किसी गहरी साजिश को भी नकारा नहीं जा सकता। बताया गया कि आग इमारत के सेकेंड फ्लोर से भड़की थी। दूसरे तल पर पिकअप के फाइनेंस विभाग का ऑफिस है। तीसरे तल पर उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग व जैव विविधता बोर्ड, चौथे तल पर एड्स कंट्रोल बोर्ड, पांचवें व छठे तल पर आयकर विभाग के भी कार्यालय हैं। पूर्व में कई सरकारी ऑफिस में अग्निकांड हो चुके हैं और उनके पीछे साजिश की आशंकाएं भी जताई जाती रही हैं।

सीएम ने दिए जांच के निर्देश

सीएम योगी आदित्य नाथ ने पिकअप भवन में लगी आग की घटना को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए है। इसके लिए उन्होंने एडीजी लखनऊ जोन राजीव कृष्णा के अध्यक्ष में एक कमेटी गठन किया है। जिसमें विशेष सचिव व एडिशनल एमडी यूपी सीडा पीके पांडेय और चीफ फायर अफसर लखनऊ विजय कुमार सिंह सदस्य होंगे। कमेटी को अग्निकांड के सभी पहलुओं की जांच करते हुए आग लगने की वजह और इसके जिम्मेदारों का पता लगाकर 48 घंटे के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.