रुड़की में बदमाशों ने बंदीरक्षक को गोली मारी

2019-08-18T06:00:40Z

- जेल से पैदल दवाई लेने अस्पताल जा रहे थे बंदीरक्षक

- घटना के कारणों का नहीं चला पता, बदमाशों की तलाश में जुटी पुलिस

ROORKEE: रुड़की उपकारागार के बंदीरक्षक को बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी। गोली के छर्रे उनके शरीर में कई जगहों पर लगे हैं। वह पैदल ही जेल से शहर के एक अस्पताल में पैदल ही दवा लेने जा रहे थे। घटना के बाद बदमाश फरार हो गए। पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है।

बाइक सवार बदमाशों ने मारी गोली

रुड़की उपकारागार में परवेश चौहान (35) पुत्र कालूराम निवासी चकराता दो साल से बंदीरक्षक के पद पर तैनात हैं। सैटरडे की शाम बंदीरक्षक जेल के ही साथी कर्मचारी की बाइक से रामनगर में किसी काम से गए थे। काम निपटाने के बाद दोनों वापस आ गए। बंदीरक्षक का साथी तो जेल के अंदर बनी आवासीय कॉलोनी में चला गया। जबकि बंदीरक्षक पैदल ही अपने गले की दवा लेने के लिए विनय विशाल अस्पताल के लिए चल दिए। जैसे ही वह आजादनगर चौक के पास पहुंचे तो पीछे से बाइक सवार दो बदमाशों ने उन पर गोली चला दी। गोली के छर्रे बंदीरक्षक के हाथ और शरीर के अन्य जगहों पर लगे। गोली लगने के बाद बंदीरक्षक भी वहां से अस्पताल की तरफ भागे। घटना के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। बदमाशों के हाथों में हथियार होने के चलते कोई भी उन्हें रोक पाने की हिम्मत नहीं जुटा सका। घटना की सूचना मिलने पर एसपी देहात नवनीत सिंह और इंस्पेक्टर गंगनहर राजेश साह समेत तमाम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। बंदीरक्षक को विनय विशाल अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस अधिकारी बंदीरक्षक से पूछताछ कर रहे हैं। बंदीरक्षक पर हमले की वजह अभी तक पता नहीं चल पाई है। इस हमले के पीछे किसी कुख्यात की भूमिका से भी इन्कार नहीं किया जा सकता है। हरिद्वार एसएसपी डी सैं¨थल अबुदई कृष्ण राज एस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही हमलावर पुलिस की गिरफ्त में होंगे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.