मॉल पहुंची यूनिवर्सिटी की पुरानी लड़ाई अंधाधुंध फायरिंग से दो की मौत

2018-11-01T15:22:16Z

शोरूम कर्मचारी को मारने पहुंचे बदमाशों ने भीड़ पर की गोलीबारी छात्रों के बीच अदावत में हुई दुस्साहसिक घटना।

varanasi@inext.co.in
VARANASI : हथियारबंद बदमाशों ने कैंटोनमेंट स्थित जेएचवी मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग की। गोली लगने से दो लोगों की मौत हो गयी। अन्य दो गंभीर रूप से घायल हो गए। बुधवार की शाम हुई घटना से हड़कम्प मच गया। वारदात के बाद बदमाश भाग निकले। मौके पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंचे। सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर गोलीबारी करने वालों में शामिल एक बदमाश की पहचान काशी विद्यापीठ के छात्र आलोक उपाध्याय के रूप में हुई। एसएसपी ने कैंट इंस्पेक्टर राजीव रंजन और नदेसर चौकी प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया। बदमाशों की तलाश के लिए 12 टीमें गठित की गयी हैं।

मॉल पहुंची यूनिवर्सिटी की पुरानी लड़ाई
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ आईआरपीएम के छात्र आलोक उपाध्याय और प्रशांत अग्रहरि के बीच कई माह से अदावत चला रही थी। तीन दिन पहले आलोक ने अपने साथियों के साथ मिलकर प्रशांत को घेरकर नदेसर में जमकर पीटा था। इससे आहत प्रशांत ने आलोक को सबक सिखाने की ठानी। यह बात आलोक को मालूम चली तो वह प्रशांत की हत्या की योजना बनाने लगा। उसे पता चला कि वह जेएचवी मॉल स्थित एक शोरूम में काम करता है। बुधवार की शाम पौने चार बजे आलोक अपने दो साथियों के साथ असलहा लेकर मॉल पहुंचकर प्रशांत के बारे में पूछताछ करने लगा। तभी एक कर्मचारी की नजर एक बदमाश के पास मौजूद पिस्टल पर पड़ी। उसने स्टोर मैनेजर के साथ ही अपने अन्य साथियों को इसकी जानकारी दी।

साथी फंसा तो ताबड़तोड़ चलायी गोलिया

मॉल के कर्मचारियों ने बदमाश पिस्टल से लैस बदमाश को पकड़ लिया। अपने साथी को फंसता देख बाहर निकल चुके दो बदमाश फायरिंग करते हुए अंदर दाखिल हुए और साथी को छुड़ाने के लिए भीड़ को लक्ष्य करके ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। बगल के एक शोरूम का कर्मचारी गोपी कन्नौजिया (25 वर्ष) और शोरूम के टेलर मास्टर सुनील कुमार (42 वर्ष) गोलियों के शिकार हो गए। उनके सीने पर गोलियां लगी। जबकि दूसरे शोरूम के कर्मचारी विशाल सिंह गोलू और चंदन शर्मा को भी गोली लगी।
धटनास्थल से से 13 खोखे बरामद
लगभग 15 राउंड फायरिंग के बाद तीनों बदमाश मॉल के बेसमेंट से होकर फरार हो गए। सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी भारी फोर्स के साथ मौक पर पहुंचे। आनन-फानन में गोलीबारी के शिकार लोगों को हॉस्पिटल पहुंचाया गया। बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंचते ही गोपी और सुनील की मौत हो गई। वहीं मलदहिया स्थित हॉस्पिटल में एडमिट गोराई, जंसा निवासी विशाल और गायघाट निवासी चंदन शर्मा की हालत खतरे से बाहर है। कैंट इंस्पेक्टर सहित क्राइम ब्रांच ने मौके पर पहुंचकर 13 खोखा बरामद किया है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी, एसपी क्राइम ने शोरूम संचालकों से घटनाक्रम की जानकारी हासिल की।

वाराणसी : गोलीबारी के पीछे लव ट्रेंगल की अदावत भी

वाराणसी : मॉल में सुरक्षा पर उठे सवाल


विद्यापीठ हॉस्टल में वीसी ने की छापेमारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.