क्राइम सिटी

2019-10-15T05:45:16Z

-लालपुर में दिनदहाड़े ज्वेलरी शॉप में लूट की कोशिश

-विरोध करने पर ज्वेलर्स दोनों भाइयों को मारी गोली

-अमरावती कांप्लेक्स स्थित गहना घर में पिस्टल लहराते घुसे थे पांच क्रिमिनल्स

-मामले में एसआइटी का गठन, पहचान के लिए तस्वीर होगी मददगार

-पीस रोड होते हुए कोकर के रास्ते बाइक पर सवार होकर भाग निकले क्रिमिनल्स

-बैंक के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे का फोकस कर दिया था नीचे

-घटनास्थल पर पहुंचे एसएसपी, बाद में रिम्स पहुंचकर लिया बयान

शहर में लगातार बढ़ते क्राइम ने एक ओर जहां इस पर क्राइम सिटी का तमगा लगा दिया है। वहीं, राजधानी में पुलिस सिस्टम के लिए भी ओपन चैलेंज है। सोमवार को सिटी के बीचोबीच दिनदहाड़े क्रिमिनल्स ने जिस तरह तांडव मचाया, उससे यह स्पष्ट हो गया है कि क्रिनिल्स का दुस्साहस किस कदर बढ़ गया है। लालपुर चौक के अमरावती कांप्लेक्स स्थित जेवर दुकान गहना घर में लूट के इरादे से घुसे क्रिमिनल्स ने दो सगे भाइयों को गोली मार दी। इससे दोनों भाई घायल हो गए। घायल रोहित खिरवाल (39) की पेट में गोली लगी है, जबकि राहुल खिरवाल (35) की पेट व जांघ में दो गोलियां लगी हैं। दोनों का रिम्स में इलाज चल रहा है। डॉक्टरों के अनुसार, दोनों की स्थिति खतरे से बाहर है। मालूम हो कि खिरवाल का परिवार अमरावती कांप्लेक्स के पीछे स्थित पीस रोड में ही रहता है।

क्या है मामला

जानकारी के अनुसार, दोपहर करीब दो बजे दुकान में रोहित, राहुल व उनके पिता बनवारी लाल बैठे थे। इसबीच एक-एक कर पांच क्रिमिनल्स दुकान पर आ धमके। सभी के हाथ में पिस्टल थी। क्रिनिल्स ने पिस्टल तानकर सभी से मोबाइल मांगे और किनारे जाने के लिए कहा, रोहित ने इसका विरोध किया। इसके बाद अपराधियों ने उसकी पेट में गोली मार दी। यह देख जब राहुल दौड़ा तो उन्हें भी दो गोलियां दाग दीं। इसके बाद क्रिमिनल्स कांप्लेक्स के बाहर खड़ी बाइक तक पहुंचे और हथियार लहराते हुए पीस रोड होते हुए कोकर के रास्ते भाग निकले। इधर, घटना के तुरंत बाद मौके पर पीसीआर-7 वैन कर पुलिस पहुंची और दोनों घायलों को रिम्स पहुंचाया।

सीसीटीवी कैद हुए लुटेरे

घटना के बाद भागने के दौरान अपराधी सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए हैं। एक बाइक पर तीन और दूसरी बाइक पर दो अपराधी भागे हैं। सीसीटीवी कैमरे में देखा गया है कि अपराधी दुकान से हथियार लहराते हुए अमरावती कांप्लेक्स की बाउंड्री के बाहर खड़ी बाइक तक पहुंचे। ये अपराधी पहली फाय¨रग के बाद ही निकल गए थे। जबकि तीसरे राउंड की फाय¨रग होने पर पीछे से तीन अन्य अपराधी भी निकले और बाइक पर बैठ गए। सफेद रंग की अपाची में तीन अपराधी भागे, जिनमें चालक और पीछे बैठे युवक ने काले रंग की मास्क लगा रखी थी। जबकि बीच में बैठा अपराधी हेलमेट पहन रखा था। दूसरी बाइक काले रंग की अपाची में दोनों अपराधियों ने रुमाल बांध रखे थे।

तीन राउंड फायरिंग से दहला इलाका

अपराधियों ने गहना घर में घुसने के बाद तीन राउंड फाय¨रग की। तीनों गोलियां दोनों भाई को लगी है। गोलियों की आवाज सुनकर आसपास व ऊपर के दुकानदार दौड़ पड़े। जब तक कि लोग कुछ समझ पाते अपराधी हथियार लहराते हुए भाग चुके थे। इसके बाद सभी ने मिलकर गोली से घायल दोनों भाइयों को पीसीआर में बैठाकर इलाज के लिए रिम्स भेजा।

एफएसएल टीम ने लिया फिंगर प्रिंट

जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल पर लालपुर थानेदार अरविंद कुमार सिंह, कोतवाली थानेदार श्यामानंद मंडल पहुंचे। बाद में एसएसपी अनीश गुप्ता खुद पहुंचे और घटना की छानबीन की। मामले में एसएसपी अनीश गुप्ता ने एसआइटी का गठन किया है। इसमें सिटी डीएसपी, सदर डीएसपी, कोतवाली डीएसपी सहित अन्य थानेदारों को शामिल किया गया है। अपराधी दुकान पर ही दो हेलमेट छोड़ गए हैं। जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। घटना के बाद वहां एफएसएल की टीम पहुंची थी। एक्सपर्ट ने फिंगर प्रिंट सैंपल भी इकट्ठा किया।

फर्जी नंबर लगी बाइक से पहुंचे थे लुटेरे

दोनों अपराधी फर्जी नंबर लगी बाइक से पहुंचे थे। दोनों नंबरों की जांच करने पर पता चला कि एक अपाची में लगा नंबर (जेएच-01सीएस-0167) बुलेट बाइक का निकला। दूसरा नंबर स्कूटी का है। पुलिस दोनों बाइक नंबरों को ट्रेस के लिए टेट्रा सहित अन्य माध्यमों से मैसेज फ्लैश किया गया है। इसके बाद शहर की नाकेबंदी कर चेकिंग की गई। हालांकि अपराधियों का सुराग नहीं मिला है।

वर्जन

अपराधियों की पहचान की कोशिश की जा रही है। अपराधियों के भागने वाले रूट पर छान मारा जा रहा है। मामले के उद्भेदन और गिरफ्तारी के लिए एसआइटी का गठन किया गया है।

अनीश गुप्ता, एसएसपी रांची

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.