पटरियों दुकानदार को पीटने का किसने दिया अधिकार

Updated Date: Sun, 15 Dec 2019 05:45 AM (IST)

- कटरा के सब्जी और फल विक्रेताओं ने किया प्रदर्शन

- शुक्रवार को हुई थी जबर्दस्त कार्रवाई, पीटे गए थे पटरी दुकानदार

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ:

स्मार्ट सिटी और इंक्रोचमेंट के नाम पर पंजीकृत पटरी दुकानदारों को हटाए जाने और फिर उनकी पिटाई किए जाने से नाराज पटरी दुकानदारों ने पानी टंकी चौराहे पर जबर्दस्त विरोध प्रदर्शन किया। पैदल मार्च करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंच कर एसीएम थर्ड को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान पटरी दुकानदारों को पीटे जाने पर सवाल उठाये।

कलेक्ट्रेट पहुंच, सौंपा ज्ञापन

आजाद स्ट्रीट वेन्डर युनियन के प्रदेश महामंत्री रवि शंकर द्विवेदी, डा। प्रमोद शुक्ला, श्याम सूरत पांडे के नेतृत्व में नारेबाजी करते हुए पटरी दुकानदार कलेक्ट्रेट पहुंचे। एसीएम थर्ड को ज्ञापन सौंपते हुए पटरी दुकानदार रवि शंकर द्विवेदी ने कहा कि पथ विक्रेता अधिनियम के तहत किसी भी पथ विक्रेता वेडिंग जोन बना कर बसाने से पहले उसे उसके स्थान से बेदखल न किया जाए, वहीं शुक्रवार को कटरा पानी टंकी मनमोहन पार्क के फल और सब्जी विक्रेताओं को अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान लाठी-डंडे से पीटा गया। गालियां दी गई। इस तरह की कार्रवाई पथ विक्रेता अधिनियम के साथ ही मानवाधिकार का भी उल्लंघन है। इस अवसर पर मो। अनस, गनेश गुप्ता, अनिल सोनकर, लीलावती पाण्डे। मो। तौसीफ, विगुन तिवारी, एकराम, एहसान, शैलेद्र कुमार, शहबान आदि मौजूद रहे।

पटरी दुकानदारों ने उठाए ये सवाल

- पीडीए स्मार्ट सिटी की बात करता है, जबकि पीडीए के पास जोनल प्लान तक नहीं है।

- नजूल की भूमि को फ्री होल्ड कर पूंजीपतियों को दिया जा रहा है, जबकि नजूल की जमीन पर ही पटरी दुकानदारों को बसाया जा सकता है।

- इम्पैक्ट फीस लेकर मार्केट किस आधार पर बनाने के आदेश पीडीए दे रहा।

- सिटी में रोड पर बेहिसाब खड़े वाहन जनरेटर क्यों नहीं उठाती पुलिस।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.