Flipkart Amazon और Oyo हैं भारत के सबसे अच्छे वर्कप्लेस रिपोर्ट का दावा

2019-04-03T16:23:02Z

फ्लिपकार्ट अमेजॉन और ओयो भारत के साबसे अच्छे वर्कप्लेस हैं। एक रिपोर्ट में इस बात का दावा है।

नई दिल्ली (पीटीआई)। वॉलमार्ट के स्वामित्व वाली कंपनी 'फ्लिपकार्ट' भारत का सबसे अच्छा वर्कप्लेस है। वहीं अमेजॉन और ओयो इस मामले में दूसरे और तीसरे पोजीशन पर हैं। प्रोफेशनल सोशल मीडिया नेटवर्क 'LinkedIn' ने भारत के लिए '2019 टॉप कंपनीज' की एक लिस्ट जारी की है। इसमें काम करने वाले लोगों को कंपनियों में मिलने वाली अच्छी सुविधाओं के आधार पर सभी कंपनियों की रैंकिंग की गई है। इस लिस्ट में फ्लिपकार्ट पहले नंबर पर है। रैंकिंग के मामले में फूड सर्विस प्रोवाइडर कंपनी 'स्विगी' छठे और 'जोमैटो' आठवें नंबर पर है, जबकि पॉपुलर आईटी जायंट 'टाटा कंसल्टेंसी सर्विस (टीसीएस)' भारत का सातवां सबसे अच्छा वर्कप्लेस है।

पांचवें नंबर पर उबर

वन 97 कम्युनिकेशंस '2019 टॉप कंपनीज' की रैंकिंग में चौथे स्थान पर है, 'उबर' ने इस लिस्ट में पांचवां पोजीशन हासिल किया है। वहीं रिलायंस इंडस्ट्रीज भारत के सबसे अच्छे वर्कप्लेस के मामले में 10वें स्थान पर है। इस लिस्ट में अन्य कंपनियों में 13 वें पर कंसल्टिंग फर्म 'बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी)', यस बैंक (14), आईबीएम (15), डेमलर एजी (16), फ्रेशवर्क्स (17), एक्सेंचर (18), ओला (19), आईसीआईसीआई बैंक (20), पीडब्ल्यूसी इंडिया (21), केपीएमजी इंडिया (22), लार्सन एंड टुब्रो (23), ओरेकल (24) और क्वालकॉम (25) शामिल हैं।

चार मापदंडो पर हुई कंपनियों की रैंकिंग

लिंक्डइन इंडिया के मैनेजिंग एडिटर एडिथ चार्ली ने कहा, 'इस साल, सूचि में कई नए कंपनियों को शामिल किया गया है, जैसे कि टीसीएस और आईबीएम। इन्होंने अपने जॉब और हायरिंग लैंडस्केप में काफी बदलाव किये हैं। अन्य ब्लू चिप भारतीय कंपनियों जैसे लार्सन एंड टुब्रो और रिलायंस इंडस्ट्रीज की रैंकिंग, यह साबित करती हैं कि ये बड़ी कंपनियां अपने कर्मचारियों को काम से आकर्षित करने में बेहतर हो रही हैं।' बता दें कि इस लिस्ट में शामिल अधिकांश कंपनियों ने अधिकतम नई भर्तियां की हैं। LinkedIn ने चार मानदंडों के आधार पर कंपनियों रैंकिंग की है, जिनमें कंपनी में रुचि, कर्मचारियों के साथ जुड़ाव, नौकरी की मांग और एम्प्लॉई रिटेंशन शामिल हैं।

अमेजन अब हिंदी में भी, 10 करोड़ नये ग्राहक जोड़ेगा ऑनलाइन

हैरेसमेंट मामले में फंसने और फैंटम के बंद होने के बाद विकास बहल को यहां से भी निकाला बाहर

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.