आदेश दिया कौन सड़कों पर सज रहीं अवैध फूड वैन

2019-07-11T11:00:47Z

बिना रजिस्ट्रेशन के खाद्य पदार्थ बेचने वाली फूड वैन शहर के लोगों की सेहत के साथ कर रहीं खिलवाड़

-जानकारी होने के बावजूद कार्रवाई नहीं कर रहा फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट

vinod.sharma@inext.co.in

VARANASI

शहर में सैकड़ों फूड वैन बिना रजिस्ट्रेशन के दौड़ रहे हैं। इसे संचालित करने वाले अपनी तो जेब खूब भर रहे हैं लेकिन नगर निगम को नुकसान पहुंचा रहे हैं। साथ ही फूड वैन के खाने से शहर के लोगों की सेहत बिगड़ रही है। इस लेकर संबंधित विभाग गंभीर नहीं दिख रहा है। इन पर कार्रवाई नहीं की जा रही हैं।

शाम ढलते सज रहीं

महमूरगंज, सिगरा, कचहरी, गोदौलिया, सुंदरपुर, लंका, भेलूपुरा, अस्सी समेत तकरीबन सभी भीड़भाड़ वाले इलाकों में अवैध रूप से मोबाइल फूड वैन संचालित हो रही हैं।

इनमें से 80 फीसदी से ज्यादा शाम 6 बजे के बाद लगती हैं और रोड किनारे देर रात तक जमी रहती हैं। इन पर जुटने वाले लोगों और उनके वाहनों के कारण यातायात प्रभावित होता है। साथ ही सड़कों पर अतिक्रमण के अलावा गंदगी भी फैलती है। कई फूड वैन पर खुलेआम वाइन के साथ लोग खानपान का आनंद लेते हैं।

800 से ज्यादा मोबाइल वैन

फूड सेफ्टी विभाग के सीनियर अधिकारी के अनुसार शहर में 800 सौ से ज्यादा मोबाइल फूड वैन संचालित हो रही हैं। इनमें सिर्फ तीन सौ फूड वैन ही रजिस्टर्ड हैं। पहले इनका रजिस्ट्रेशन नगर निगम करता था। अब फूड एंड सेफ्टी विभाग की जिम्मेदारी इन पर लगा लगाने की है लेकिन स्थानीय पुलिस की मिलीभगत सबकुछ आसानी से चल रहा है।

नहीं होती खाने की क्वालिटी चेक

फूड वैन संचालकों के पास एफएसडीए का लाइसेंस नहीं होता। ऐसे में लोगों को परोसे जाने वाले खाद्य पदार्थ मानकों पर खरे होने की भी कोई गारंटी नहीं होती। नियम के अनुसार फूड एंड सेफ्टी विभाग से परमिशन लेने के बाद ही मोबाइल फूड वैन संचालक खाद्य पदार्थ बेच सकता है।

वर्जन

शहर में अधिकतर मोबाइल फूड वैन अवैध हैं। अधिकतर शाम को ही शहर में घूम-घूमकर लोगों को फास्ट फूड, साउथ इंडियन के साथ नॉनवेज भी परोसते हैं। इनके खिलाफ अभियान चलाने का निर्देश सभी जोनल फूड इंस्पेक्टर को दिया गया है।

-संजीव सिंह, चीफ फूड सेफ्टी ऑफिसर

शहर में संचालित मोबाइल फूड वैन पर निगरानी पहले नगर निगम करता था। अब फूड एंड सेफ्टी विभाग के जिम्मे है। शहर में अतिक्रमण और गंदगी की शिकायत मिल रही है। बहुत जल्द ही अभियान चलाकर इनसे जुर्माना वसूला जाएगा। नियमानुसार कार्रवाई भी की जाएगी।

-अजय सिंह, अपर नगर आयुक्त

800

फूड वैन संचालित हो रहे शहर में

300

फूड वैन का हुआ है रजिस्ट्रेशन

500

फूड वैन संचालित हो रहे अवैध रूप से

80

फीसद से ज्यादा फूड वैन शाम को लगते हैं शहर की सड़कों पर


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.