Forbes India Rich List 2019 लगातार 12वें साल मुकेश अंबानी टॉप पर गौतम अडानी ने दूसरे स्थान पर बनाई जगह

2019-10-12T12:58:19Z

06 स्थान नीचे खिसके लक्ष्मी मित्तल अडानी की लंबी छलांग। इस लिस्ट में 6 नए उद्योगपति शामिल उदय कोटक ने पहली बार टॉप 5 में जगह बनाई है। 09 लोग फोब्स इंडिया रिच लिस्ट में इस बार नहीं बना सके अपना स्थान।

नई दिल्ली (पीटीआई)। फोर्ब्स ने भारत के 100 अमीरों की सूची जारी कर दी है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के ओनर मुकेश अंबानी लगातार 12 वें साल इस लिस्ट में टॉप पर हैं। इस साल उनकी संपत्ति में 40 लाख डॉलर की बढ़ोतरी हुई है। इसी तरह अब उनकी संपत्ति 51.4 बिलियन डॉलर यानी 5,140 करोड़ डॉलर हो गई है। वहीं, इंफ्रास्ट्रक्चर टाइकून गौतम अडानी इस बार भारत के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं।
अडानी 8 स्थान से दो पर आए

गौतम अडानी की कुल संपत्ति 15.7 अरब डॉलर है। अडानी की सफलता बेहद चमत्कारिक है क्योंकि उन्होंने 8 स्थान से छलांग लगाकर इस साल की सूची में दूसरे स्थान पर अपनी जगह बनाई है। मैगजीन ने अपनी रिपोर्ट में बताया, 'अडानी को यह सफलता एयरपोर्ट से लेकर डेटा सेंटर तक के तमाम तरह के कारोबार के चलते मिली है।'
17वें स्थान पर पहुंचे अजीम प्रेमजी
फोर्ब्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया, 'भारत में ऐसे 14 अमीर हैं, जिनकी संपत्ति में इस साल 1 अरब डॉलर की कमी आई है। पिछले साल की लिस्ट में शामिल 9 अरबपति इस बार सूची से बाहर हो गए हैं। अजीम प्रेमजी की संपत्ति भी काफी कम हुई है, उसका कारण संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा दान कर देना है। पिछले साल वह दूसरे स्थान पर थे लेकिन अब वे 17वें स्थान पर पहुंच गए हैं।'
तीसरे स्थान पर हिंदुजा ब्रदर्स
वहीं, अशोक लीलैंड के प्रमोटर हिंदुजा ब्रदर्स कुल 15.6 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ इस लिस्ट में तीसरे, शापूरजी पालोनजी ग्रुप के पालोनजी मिस्त्री 15 अरब डॉलर के साथ चौथे, कोटक महिंद्रा बैंक के उदय कोटक 14.8 अरब डॉलर के साथ पांचवें और 14.4 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ एचसीएल के शिव नडार छठे स्थान पर हैं।
1 आइडिया से 6 महीने में फोर्ब्स की लिस्ट में 7वें नंबर पर पहुंचे
1430 करोड़ डॉलर की नेटवर्थ के साथ राधाकृष्णनन दमानी 7वें नंबर पर स्थान बनाने में कामयाब हुए है। डी-मार्ट के फाउंडर राधाकिशन दमानी की किस्मत एक आइडिया ने बदल दी और 24 घंटे में उनकी संपत्ति 100 परसेंट बढ़ गई। डी-मार्ट का आईपीओ 2017 में आया था। 20 मार्च 2017 तक राधाकृष्णनन सिर्फ एक रिटेल कंपनी के मालिक थे, लेकिन 21 मार्च को जैसे उन्होंने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की घंटी बजाई, वैसे ही संपत्ति 100 परसेंट तक बढ़ गई।


Posted By: Mukul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.