सेना में भर्ती के नाम पर करोड़ों की ठगी जालसाज अरेस्ट

2019-07-15T10:36:41Z

यूपी एसटीएफ की टीम ने सेना में नौकरी के नाम पर सैकड़ों लोगों को करोड़ों का चूना लगाने वाले जालसाज को अरेस्ट किया है।

-खुद को जूनियर कमीशन अधिकारी बताता था आरोपी, 150 बेरोजगारों को लगाया चूना
-कॉल रिकॉर्डिंग से बचने के लिये करता था इंटरनेट कॉल

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : गिरफ्त में आया आरोपी खुद को जूनियर कमीशन अधिकारी बताता था। बताया गया कि आरोपी सेना से भगोड़ा है। टीम ने आरोपी के कब्जे से आर्मी का आईकार्ड, कैंटीन लिकर स्मार्ट कार्ड, दो मोबाइल फोन, एक पैन कार्ड और एक कार बरामद की है।

अधिकारियों से बताता था करीबी

एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह के मुताबिक, बीते दिनों इंफॉर्मेशन मिली थी कि उन्नाव के बीघापुर का निवासी सेना का भगोड़ा जवान आलोक कुमार अवस्थी खुद को भारतीय सेना का जूनियर कमीशन अधिकारी बताकर उन्हें नौकरी दिलाने का झांसा देता है। इसके एवज में वह 3 से 5 लाख रुपये वसूलता है। जिस पर एएसपी विशाल विक्रम सिंह और उनकी टीम को जांच में जुटाया गया। जांच में पता चला कि आरोपी आलोक अपने रिश्तेदारों व दोस्तों के जरिये बेरोजगारों के संपर्क में आता है। उन पर विश्वास जमाने के लिये वह अपना भारतीय सेना का आईकार्ड व कैंटीन का स्मार्ट कार्ड दिखाता है। इसके साथ ही वॉट्सएप की फर्जी चैट दिखाकर वह उन्हें बताता था कि उनकी पहुंच सेना के कई ब्रिगेडियर, कर्नल व अन्य अफसरों से है। जिनके जरिये वह उन्हें सेना में भर्ती करवा सकता है।

कैंटीन कार्ड से कराता था शॉपिंग

जांच में इन तथ्यों की पुष्टि होने पर एसटीएफ टीम ने आरोपी आलोक कुमार अवस्थी को अरेस्ट कर लिया। पूछताछ के दौरान आलोक ने बताया कि वह विश्वास जमाने के लिये झांसे में आए बेरोजगारों को कैंटीन के स्मार्ट कार्ड के जरिए उन्हें आर्मी कैंटीन से सामान भी खरीदवाता था। झांसे में आ चुके लोगों से वह 3 से 5 लाख रुपये तक का सौदा करता था और कुछ से बैंक अकाउंट तो कुछ से नकद रुपया लेता था। कोई उसकी कॉल रिकॉर्ड न कर सके इसलिए वह झांसे में आ चुके लोगों से वॉट्सएप कॉल ही करता था। पूछताछ में आरोपी आलोक ने बताया कि वह अब तक 150 से ज्यादा लोगों से रकम ऐंठ चुका है।
डेथ मिस्ट्री! 45 दिन पहले दुल्हन बनी डिप्टी कमांडेंट की 9वीं मंजिल से गिरकर मौत
एक करोड़ से बनवाया मकान
एएसपी विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि आरोपी आलोक ने अपने गांव बीघापुर में ठगी की रकम से आलीशान मकान बनवाया है। इस मकान में उसने एक करोड़ रुपये की लागत लगाई है। इस मकान में सुख सुविधा के सारे इंतजाम हैं। इसके अलावा आरोपी ने ठगी की रकम से वैगन आर कार भी खरीदी है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.