गोतस्करों को पकड़ने की फुलप्रूफ तैयारी

2018-12-14T06:00:22Z

15 थाने गोकशी के लिए जिले में अतिसंवेदनशील घोषित।

63 मुकदमे गोकशी के चल रहे लंबित।

158 मुकदमे गोकशी के डेढ़ साल में हुए दर्ज।

60 गोकशी के आरोपियों पर लगाया गुंडा एक्ट।

33 गो-तस्करों से अब तक हो चुकी है पुलिस की मुठभेड़।

385 गो-तस्करों को किया गया है चिंहित, जो हैं फरार।

521 गो-तस्कर को पुलिस कर चुकी है गिरफ्तार।

74 इंस्पेक्टर व दरोगा की तैनाती गोतस्करों की गिरफ्तारी के लिए।

डीजीपी के आदेश पर एसएसपी ने उठाया है कदम।

फरार चल रहे गो-तस्करों के घरों की होगी कुर्की।

Meerut। शहर में गोकशी पर लगाम लगाने के लिए पुलिस ने गो-तस्करों के खिलाफ छेड़ रखा है। एसएसपी अखिलेश कुमार के मुताबिक डीजीपी के आदेश पर गो-तस्करों के खिलाफ मेरठ छोड़ों अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहाकि गोकशी को लेकर मेरठ में अलर्ट घोषित है। वहीं अगर किसी इंस्पेक्टर और एसओ के क्षेत्र में गोकशी मिली तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

घरों की कुर्की

एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि गोतस्करों की गिरफ्तारी के लिए तेज अभियान चलाया जा रहा है। वहीं फरार चल रहे गो तस्करों के घरों की कुर्की भी की जाएगी। इसके अलावा क्राइम ब्रांच समेत सभी थानों के इंस्पेक्टर व एसओ समेत हर थाने के दो-दो दरोगाओं को सर्किल में गो-तस्करों की गिरफ्तारी का टास्क दिया गया है। एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया कि अगर कोई गोकशी करते हुए पकड़ा गया तो उसके पूरे परिवार के खिलाफ गोकशी का मुकदमा दर्ज होगा।

शस्त्र लाइसेंसधारक भी दें सूचना

एसएसपी ने बताया कि जिस क्षेत्र में गोकशी होगी। उस सर्किल के हथियारों के लाइसेंसधारकों से भी सवाल -जवाब किया जाएगा। उन्हें भी गोकशी की सूचना देगी होगी।

ऐसे चलेगा अभियान

जो पुराने गो तस्कर जमानत पर बाहर हैं उनसे भी जानकारी ली जाएगी।

जिस मकान में पहले गोकशी होती मिली थी, वहां पर दोबारा से होगी चेकिंग।

मिश्रित आबादी में संचालित मीट की दुकानों की भी होगी चेकिंग

देहात में गो-तस्करों की तलाश में जुटेंगे मुखबिर।

गोकशी की सूचना देने पर पुलिस देगी ईनाम

इन जगहों पर नजर

भावनपुर, किठौर, जानी,

सरधना, मुंडाली, खरखौदा,

मवाना, लिसाड़ी गेट,मेडिकल, दौराला, इंचौली, नौचंदी, सरूरपुर, फलावदा आदि संवेदनशील

डीजीपी के आदेश पर गो-तस्कर मेरठ छोड़ों अभियान चलाया गया है। जिसमें क्राइम ब्रांच समेत सभी एसपी, सीओ, इंस्पेक्टर, एसओ और चौकी प्रभारियों को गो-तस्करों की गिरफ्तारी के आदेश किए गए हैं।

अखिलेश कुमार, एसएसपी, मेरठ


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.