गढ़वा से हथियार के साथ धराया टीपीसी का एरिया कमांडर

2015-10-03T07:40:23Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : पुलिस व सीआरपीएफ-172 बटालियन के संयुक्त तत्वावधान में घेराबंदी कर टीपीसी के एरिया कमांडर निजाम अंसारी उर्फ गुलाम मुस्तफा उर्फ नन्हका को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से पुलिस ने थ्री फिफ्टीन का देशी रायफल, चार ¨जदा कारतूस व एक मोबाइल बरामद किया गया है। यह बातें सीआरपीएफ-172 बटालियन के कैंप में पत्रकार वार्ता में कमांडेंट कैलाश आर्य ने कही।

ऐसे पकड़ा गया

बरडीहा थाने के आदर निवासी टीपीसी का एरिया कमांडर निजाम अंसारी कुछ लोगों के साथ आदर गांव में है। सूचना के आलोक में सीआरपीएफ के उप कमांडेंट बी के सिंह, इंस्पेक्टर गुरदीप सिंह तथा बरडीहा थाना प्रभारी नंद किशोर राम के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी अभियान चलाया गया। अभियान में शामिल टीम सबसे पहले आदर गांव पहुंची जहां से निजाम अंसारी व उसके साथी निकल चुके थे। पुलिस व सीआरपीएफ के टीम वहां से सिमरी गांव के तरफ जैसे ही पहुंची तो दोनों गांव के बीच रेलवे क्रां¨सग के पास कुछ लोग पुलिस को देखते ही भागने लगे। मगर जवानों ने खदेड़ कर एरिया कमांडर निजाम अंसारी को पकड़ा। उसके अन्य साथी भागने में सफल रहे।

पहले था माओवादी

उन्होंने कहा कि निजाम अंसारी 2003 से 2006 तक भाकपा माओवादी नक्सली संगठन में शामिल था। इसके बाद वह 2014 में टीपीसी नक्सली संगठन में शामिल हुआ। उस पर मझिआंव व बरडीहा थाना थाने में रंगदारी व लेवी वसूलने जैसी पांच मामले दर्ज है। सब जोनल कमांडर अक्षय व निर्भय के पकड़े जाने के बाद वह टीपीसी का एरिया कमांडर बन गया था तथा गढ़वा उत्तरी क्षेत्र में अपने साथियों के साथ रहता था। एसडीपीओ गढ़वा प्रेमनाथ ने कहा कि गढ़वा जिले में टीपीसी के आठ-दस नक्सली हैं जो पुलिस से भागे फिर रहे हैं। टीपीसी का मुख्यालय चतरा जिला हैं इस संगठन में कुल 50-60 नक्सली हैं। इनके पास ए के 56, ए के 47 व एसएलआर जैसे अत्याधुनिक हथियार हैं। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार निजाम अंसारी जिले के भवनाथपुर, बरडीहा, मझिआंव व कांडी प्रखंडों में आतंक मचाया हुआ था।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.