गौतम गंभीर को आउट करने में लगते थे 10 घंटे फिर भी इस गेंदबाज से थे डरते

2018-12-05T11:35:17Z

भारत के बाएं हाथ के दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। गंभीर ने मंगलवार को सोशल मीडिया के जरिए क्रिकेट से रिटायरमेंट की घोषणा की। आइए जानें गंभीर के करियर के बारे में कुछ अनजानी बातें

कानपुर। टीम इंडिया के लिए 10 साल तक क्रिकेट खेलने वाले बाएं हाथ के आेपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने क्रिकेट से संन्यास ले लिया। गंभीर को साल 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में 97 रन की मैचजिताऊ पारी खेलने के लिए याद किया जाता है। गंभीर की इस शानदार पारी की बदौलत भारत विश्व चैंपियन बना था। इसके अलावा गंभीर ने अपने एक दशक लंबे करियर में भारत के लिए कर्इ यादगार पारियां खेलीं। फिलहाल वह दो साल से टीम इंडिया से बाहर थे। वहीं आर्इपीएल का पिछला सीजन उनके लिए बेहतर नहीं रहा, एेसे में गंभीर ने क्रिकेट को अलविदा कहना सही समझा।

भारत को जिताया था 2011 वर्ल्ड कप
साल 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे डेब्यू करने वाले गौतम गंभीर ने कुल 147 वनडे मैचों में हिस्सा लिया। इसमें गंभीर के बल्ले से 39.68 की आैसत से 5238 रन निकले, जिसमें 11 शतक आैर 34 अर्धशतक शामिल हैं। उनका हार्इएस्ट इंडिविजुअल स्कोर नाबाद 150 रन है। गंभीर ने यह पारी साल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ खेली थी। अब टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो गंभीर के नाम कर्इ रिकाॅर्ड दर्ज हैं। साल 2004 में टेस्ट क्रिकेट में कदम रखने वाले गंभीर डेब्यू के पांच साल बाद एेसी पारी खेली जिसके लिए उन्हें आज भी याद किया जाता है। दरअसल साल 2009 में गंभीर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ नेपियर में 10 घंटे से ज्यादा बैटिंग करके नया कीर्तिमान बना दिया था। भारत की तरफ से नवजोत सिंह सिद्घू के बाद सबसे देर तक पारी खेलने वाले गंभीर दूसरे भारतीय बल्लेबाज हैं।

कब खेला था आखिरी मैच

क्रिकइन्फो पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, गंभीर ने अपने टेस्ट करियर में 58 मैच खेले। इस दौरान उनके बल्ले से 4154 रन निकले। इसमें 9 शतक आैर 22 अर्धशतक शामिल हैं। वहीं उनका हार्इएस्ट टेस्ट स्कोर 206 रन है। गंभीर ने अपना आखिरी टेस्ट साल 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट में खेला था उसके बाद से वह टीम से बाहर हैं। यही नहीं वनडे टीम में तो उन्हें 2013 से जगह नहीं मिली। इसके अलावा गंभीर ने अपना आखिरी टी-20 इंटरनेशनल 2012 में खेला था।

इस गेंदबाज से लगता था डर

क्रिकेट जगत में गौती नाम से मशहूर गंभीर हमेशा अपने सख्त तेवर के लिए जाने जाते रहे। मैदान पर विरोधी टीम के साथ उनकी नोंक-झोंक अक्सर देखी गर्इ। यही नहीं एक बार तो वह आर्इपीएल मैच में विराट कोहली से भिड़ गए थे। अपनी ताबड़तोड़ बैटिंग से विरोधी गेंदबाजों में खौफ रखने वाले गंभीर को पूरे करियर में सिर्फ एक गेंदबाज से डर लगा। ब्रेकफाॅस्ट विथ चैंपियंस नाम के एक टाॅक शो में गौतम ने खुलासा किया था कि उन्हें जिस गेंदबाज ने सबसे ज्यादा परेशान किया वह साउथ अफ्रीका के मोर्ने मोर्केल थे। उन्हें मोर्केल को सामना करने में डर लगता था।

वो भारतीय गेंदबाज, जिसका बैटिंग रिकाॅर्ड सचिन भी नहीं तोड़ पाए

हैप्पी बर्थडे शिखर धवन : जानिए किसने रखा था गब्बर नाम, इसके पीछे है बड़ी रोचक कहानी



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.