Kaifi Azmi 101th Birth Anniversary: गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

Kaifi Azmi 101th Birth Anniversary गूगल आज डूडल बनाकर इंडियन पोएट साॅन्गराइटर और एक्टिविस्ट कैफी आजमी की 101वीं बर्थ एनिवर्सरी सेलिबे्रट कर रहा है। कैफी आजमी 20वीं सदी के भारत के सबसे प्रसिद्ध कवियों में से एक थे।


कानपुर। भारत के फेमस पोएट कैफी आजमी की जयंती पर गूगल ने डूडल बनाया है। उनकी 101वीं बर्थ एनिवर्सरी पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। अपनी नज्मों से किसी को भी दीवाना बना देने वाले कैफी आजमी किसी भी परिचय के मोहताज नहीं है। लव पोएम से लेकर बॉलीवुड साॅन्ग, लिरिक्स और लिरिक्स प्ले लिखने में परफेक्ट कैफी आजमी 20वीं सदी के मोस्ट फेमस पोएट में से एक थे। वह बॉलीवुड की बेहतरीन एक्ट्रेस शबाना आजमी के पिता भी थे। पहली कविता 11 साल की उम्र में लिखी
1919 में उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में पैदा हुए सैयद अतहर हुसैन रिजवी यानी कैफी आजमी ने पहली कविता 11 साल की उम्र में लिखी थी। वह 1942 के महात्मा गांधी के भारत छोड़ो आंदोलन से प्रेरित हुए और बाद में एक उर्दू अखबार के लिए लिखने के लिए मुंबई चले गए। कैफी आजमी का पहला कविता संग्रह 'झंकार' 1943 में प्रकाशित हुआ था। पोएट कैफी आजमी ने कई पुरस्कार जीते


इसके बाद आजमी प्रभावशाली प्रगतिशील लेखक संघ के सदस्य बने जिन्होंने लेखन का उपयोग सामाजिक आर्थिक सुधार करने के लिए किया। कैफी आजमी ने कई पुरस्कार जीते। इनमें 3 फिल्मफेयर अवार्ड, साहित्य और शिक्षा के लिए प्रतिष्ठित पद्म श्री पुरस्कार और साहित्य अकादमी फैलोशिप, भारत के सर्वोच्च साहित्यिक सम्मानों में से एक हैं।सबसे प्रसिद्ध कविताओं में से एक औरत कैफी आजमी की पहली और सबसे प्रसिद्ध कविताओं में से एक औरत है। इसमें इन्होंने महिलाओं की समानता के लिए बात की थी। इस कविता ने उन्हें उनकी लाइफ का चैंपियन बनाया था। उन्होंने ग्रामीण महिलाओं और परिवारों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए और विभिन्न शैक्षिक पहलों का समर्थन करने के लिए एक एनजीओ की भी स्थापना की थी।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.