यौन उत्पीड़न के आरोपी को गूगल ने दिया 300 करोड़ का एग्जिट पैकेज

2019-03-12T15:17:25Z

गूगल ने अपने पूर्व अधिकारी अमित सिंघल को एग्जिट पैकेज के रूप में 313 करोड़ रुपये दिए हैं। कोर्ट के आदेश के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। सिंघल ने 2016 में यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद कंपनी से इस्तीफा दे दिया था।

सैन फ्रांसिस्को (पीटीआई)। गूगल ने अपने पूर्व एग्जीक्यूटिव अधिकारी और भारत में जन्मे अमित सिंघल को एग्जिट पैकेज के रूप में 313 करोड़ रुपये दिए हैं। कोर्ट के आदेश के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। बता दें कि सिंघल ने 2016 में यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद कंपनी से इस्तीफा दे दिया था, इसके एवज में गूगल ने उस समय सिंघल को 313 करोड़ रुपये भुगतान किये। पहले कंपनी एग्जिट पैकेज की राशि का खुलासा नहीं कर रही थी, जिसके बाद गूगल के शेयरहोल्डरों जनवरी में कैलिफोर्निया सुपीरियर कोर्ट में पैसे का खुलासा करने के लिए एक लॉ सूट फाइल की। कोर्ट के आदेश के बाद गूगल ने सोमवार को अमित सिंघल को नौकरी छोड़ने के एवज में कंपनी द्वारा दिए गए पैसे का खुलासा किया। इससे पता चला कि 2016 में कंपनी दो साल तक हर वर्ष अमित को 100-100 करोड़ रुपये और तीसरे साल में उनकी नौकरी नहीं लगने तक उन्हें 34 से लेकर 100 करोड़ रुपये देने के लिए तैयार हुई।

गूगल ने काम करने के तरीकों में किये कई बदलाव

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में गूगल के इस निर्णय का कटाक्ष किया गया। रिपोर्ट में कहा गया कि यौन उत्पीड़न के मामले में गूगल इसी तरह का कदम उठाता है। गूगल की एक प्रवक्ता ने अपना बचाव करते हुए सोमवार को कहा कि कंपनी ने ऑफिस में काम करने के तरीकों में कई बदलाव किए हैं और बड़े पदों पर लोगों द्वारा अनुचित आचरण पर सख्त कदम उठाया जाता है। उन्होंने कहा, 'जो कोई भी गूगल में महिला कर्मचारियों के साथ गलत व्यवहार करता है, उसे गंभीर परिणाम भुगतने होते हैं।' बता दें कि गूगल की एक महिला अधिकारी ने 2016 में  अमित सिंघल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। कंपनी ने इस आरोप की जांच की और पाया कि सिंघल नशे में धुत्त थे। इस मामले के बाद उस समय सिंघल ने इस्तीफा दे दिया और इसका कारण बताया कि वह परिवार के साथ अधिक समय बिताना चाहते हैं।
अभी तक सिंघल ने नहीं की कोई टिप्पणी
हालांकि, सिंघल ने कंपनी से मिले पैसे को लेकर अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है। उत्तर प्रदेश के झांसी में जन्मे सिंघल ने आईआईटी रुड़की से कंप्यूटर साइंस में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की है। उन्होंने मिनेसोटा दुलुथ विश्वविद्यालय से एमएस की डिग्री ली और 15 वर्षों तक गूगल की कोर सर्च टीम के प्रमुख रहे हैं।

गूगल ने अपने प्लेस्टोर से डिलीट किये 29 ऐप्स, यूजर्स की चुरा रहे थे जानकारी

अब गूगल मैपिंग से गलियों में छिपे बिजली बकाएदारों पर वार

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.