मेनहोल खुला छोड़ भूल गए अफसर

2019-06-28T06:00:33Z

-बरसात में खतरनाक साबित हो रहे ये मेनहोल्स

-नगर निगम इस ओर नहीं दे रहा ध्यान

-आये दिन मेनहोल्स में गिरकर राहगीर हो रहे घायल

GORAKHPUR: शहर में कई जगह नाला व नालियों के मेनहोल खुले पड़े हैं। जरा सी चूक हुई नहीं कि ये खतरनाक मेनहोल राहगीरों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। बरसात में पानी भर जाने से मेनहोल दिखाई नहीं देते हैं, जो और ज्यादा खतरनाक है।

शहर में गोलघर के नालियों के तीन से चार मेनहोल पर लगा ढक्कन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। जबकि इस रास्ते सैकड़ों लोग गुजरते हैं। शास्त्री चौक से थोड़ा आगे बीएसएनएल ऑफिस के ठीक सामने भी यही हालात हैं। दाऊदपुर मेन चौराहे के थोड़ा आगे नालियों का ढक्कन टूट कर नाली में गिर गया है। आये दिन इसमें गिर कर लोग घायल हो रहे हैं। कचहरी रोड और अंबेडकर चौक के पास पिछले तीन हफ्ते से बिजली निगम के ठेकेदारों ने बड़ा गढ्डा खोदकर छोड़ दिया है। तीन दिनों से हो रही बारिश के चलते उसमें जल जमाव हो जा रहा है।

कोट

बरसात में सड़क पर पानी भरने से खुले मेनहोल दिखाई नहीं देते हैं। इससे कई लोग गिरकर घायल हो चुके हैं। अफसर इसे ठीक कराते हैं। नालों की सफाई में भी मेनहोल खोल कर छोड देते हैं।

नूतन पांडेय, विष्णुपुरम

शहर के कई जगहों के मेनहोल का ढक्कन चोरी हो गया था। नगर निगम को इसकी शिकायत की गई। उसे बदला गया। फिर दोबारा चोरी हो गई। इसमें कई लोग गिर चुके हैं।

अंजलि उपाध्याय, झारखंडी

रात में बिजली चले जाने से सड़कों पर अंधेरा पसर जाता है। इससे मेनहोल्स नहीं दिखाई देते हैं। नगर निगम इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।

माया देवी, कोतवाली

शहर में खुले मेनहोल बरसात के दिनों में खतरनाक होते जा रहे हैं। शिकायत के बाद भी जिम्मेदार अफसर ध्यान नहीं देते। जिससे राहगीर घायल होते हैं।

अजय कुमार , गोरखनाथ

वर्जन

जहां-जहां मेनहोल खुले हैं उसे बंद करने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए स्टीमेट तैयार किया जा रहा है। जल्द कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

अंजनी कुमार सिंह, नगर आयुक्त


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.