Katrina Kaif Birthday Special: क्रिकेटर मोहम्मद कैफ के नाम पर कैटरीना ने चेंज किया था सरनेम, बर्थडे पर जानें एक्ट्रेस से जुड़ी अनजानी बातें

Updated Date: Thu, 16 Jul 2020 12:24 PM (IST)

Katrina Kaif Birthday Special: बाॅलीवुड एक्ट्रेस कैटरीना कैफ आज अपना 37वां बर्थडे सेलीब्रेट कर रहे हैं। फिल्मी दुनिया में कैटरीना एक आउट साइडर थी। मगर उन्होंने अपने हुस्न से प्रशंसकों को ऐसा दीवाना बनाया कि वह बाॅलीवुड की सबसे फेवरेट एक्ट्रेसेज में शुमार हो गई। आइए आज उनके बर्थडे पर जानें उनके करियर और निजी जिंदगी से जुड़ी बातें।

कानपुर। Katrina Kaif Birthday Special: 16 जुलाई 1983 को जन्मीं कटरीना कैफ आज 37 साल की हो गई। कैटरीना कैफ का जन्म हांगकांग में एक कश्मीरी पिता और एक अंग्रेजी माँ के यहाँ हुआ था। उनका जन्म का नाम वास्तव में कैटरीना टरकॉट है। जब वह बहुत छोटी थी तब उसके माता-पिता ने तलाक दे दिया और कैटरीना अपनी मां के साथ रहने लगी।

8 साल की उम्र में चली गईं फ्रांस
कैटरीना जब 8 वर्ष की थी तब फ्रांस चली गई थी, और बाद में स्विट्जरलैंड, पोलैंड, जर्मनी और बेल्जियम सहित देशों में रहने लगी। उन्होंने लंदन में इंजीनियरिंग की, लेकिन बाद में इसे छोड़ दिया। कैटरीना को माॅडलिंग का काफी शौक था। स्कूली दिनों के दौरान ही उन्होंने माॅडलिंग शुरु कर दी थी। पहली बार 14 साल की उम्र में वह माॅडली बनी थी।

क्रिकेटर से मिला कैफ सरनेम
मिडडे की रिपोर्ट के मुताबिक, कैटरीना को उनका कैफ सरनेम अपने माता-पिता से नहीं मिला। इसके पीछे एक कहानी है। कहा जाता है कि कैटरीना ने उपनाम कैफ को अपनाया क्योंकि क्रिकेटर मोहम्मद कैफ उस समय बहुत लोकप्रिय थे जब वह अपना सरनेम बदलना चाहती थी। इसके बाद कैटरीना ने अपने नाम के पीछे से टरकॉट हटाकर कैफ कर लिया।

2003 में रखा बाॅलीवुड में कदम
कैटरीना ने बॉलीवुड में अपनी शुरुआत 2003 की फिल्म बूम से की थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर काफी धमाका किया था। एक बार कैटरीना ने माना था कि उन्होंने करियर के शुरुआती दिनों में सलमान खान से मदद ली थी। कैटरीना ने कहा था, "सिर्फ सलमान ही नहीं, मैंने साजिद नाडियाडवाला और डेविड धवन जैसे लोगों की सलाह भी ली। लेकिन आखिरकार, मैंने जो फिल्में कीं, वे मेरे कॉल थे।'

माॅडलिंग से एक्टर बनने का सफर
कैटरीना का संघर्ष 2000 में शुरू हुआ जब वह मुंबई पहुंची। एक इंटरव्यू में कैटरीना ने बताया था, "मैं एक मॉडल बनने के लिए मुंबई आई। मेरे पास उस समय कोई योजना नहीं थी कि मैं एक अभिनेत्री बनने जा रही थी। मैं फोटोग्राफर फारुख चोथिया से मिली, जिन्होंने मुझे सही मॉडलिंग एजेंसियों के लिए रखा। कैटरीना का कहना था, 'जब मैंने 2003 में बूम की, तो उस वक्त मैं अपने काम को लेकर स्पस्ट नहीं थी। मैं कहती हूं कि मेरे फिल्मी करियर की शुरुआत 2005 में राम गोपाल वर्मा की 'सरकार' से हुई, उसके बाद 'मैने प्यार क्यूं किया' की। 2004 में, कैटरीना ने ब्लॉकबस्टर तेलुगु रोमांटिक कॉमेडी मलिस्वरी में अभिनय किया, जिसमें उन्होंने दक्षिण के सुपरस्टार वेंकटेश के साथ काम किया।

भारत आकर पहनावे में किया बदलाव
कैटरीना ने बताया था कि भारत आने के बाद उन्होंने अपने कपड़ों में बदलाव किया। वह कहती हैं, 'क्योंकि मैं लंदन से आई थी, मैंने एक निश्चित आरामदायक तरीके से कपड़े पहने जो मुंबई में स्वीकार्य नहीं थे। आप जानते हैं, शॉर्ट्स और टॉप जैसे ऐसे कपड़े, जो कॉलेज के बच्चों के बीच ट्रेंडी माने जाते हैं, लेकिन जब आप बड़े होते हैं तो वो बोल्ड बन जाते हैं। लोग आपको घूरते हैं। मुझे अपने कपड़े पहनने का तरीका बदलना पड़ा।'

सुपरहिट फिल्मों में किया काम
बॉलीवुड में कुछ असफल प्रयासों के बाद, उन्होंने आखिरकार विपुल शाह की अपकमिंग रोमांटिक कॉमेडी में अक्षय कुमार अभिनीत, 'नमस्ते लंदन' (2007) के साथ सफलता का स्वाद चखा। कुमार और कैटरीना ने 'वेलकम' (2007) और 'सिंह इज किंज' में फिर से काम किया और दोनों फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया। अन्य सितारों के साथ कैटरीना के बॉक्स ऑफिस सफल होने में 'न्यूयॉर्क' (2009), 'राजनीति' (2010), 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' (2011) और 'एक था टाइगर' (2012) शामिल हैं।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.