Happy Birthday रेखा को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी ऐसा रहेगा आने वाला वर्ष

2018-10-10T09:26:04Z

सुप्रसिद्ध और सदाबहार अभिनेत्री रेखा आज अपना 64वां जन्मदिन मना रही हैं। ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट अंकज्योतिष के आधार पर बता रहे हैं कि रेखा के लिए आने वाला अगला वर्ष कैसा रहेगा।

सुप्रसिद्ध और सदाबहार अभिनेत्री रेखा आज अपना 64वां जन्मदिन मना रही हैं। पद्मश्री से सम्मानित रेखा का जन्म 10 अक्टूबर, 1954 को मद्रास में हुआ था। तेलुगु फिल्म रंगुला रत्नम से बाल कलाकार के तौर पर फिल्मी करियर का आगाज करने वाली रेखा का पूरा नाम भानुरेखा गणेशन है।
ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट अंकज्योतिष के आधार पर बता रहे हैं कि रेखा के लिए आने वाला अगला वर्ष कैसा रहेगा। रेखा की जन्म तारीख़ 10 अक्टूबर 1954, रविवार है। जन्म तारीख़ जोड़ने से कुल संख्या का योग 3 आता है। यह अंक बृहस्पति ग्रह का सूचक है, जो फलित-अंक विज्ञान ज्योतिष में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस अंक की शृंखला संख्या 6-9 भी है, इन अंकों वाले भावुक होते हुए व्यावहारिक स्तर पर अति सहिष्णु होते हैं। इस अंक की धारक रेखा आगामी समय में नियंत्रित स्वभाव के कारण अति ख्याति प्राप्त करेंगी।

ख्याति के साथ बढ़ेंगे अज्ञात शत्रु


सुव्यवस्थित और अनुशासन पसन्द होने के कारण व्यक्तित्व में अद्भुत क्षमता से उन्नति का मार्ग प्रशस्त होगा। रेखा का यह 64वाँ वर्ष अंक ज्योतिष के अनुसार, मिश्रित फल देगा। जहां ख्याति बढ़ेगी वहीं अज्ञात शत्रु भी उत्पन्न होंगे। स्वाभिमानी व्यक्तित्व होते हुए भी सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ती रहेग। रेखा के नामाक्षर की संख्या भी है, जो 3 की सहयोगी शुक्र की संख्या है। दूसरों के प्रति स्नेह की भावना तीव्र होगी। कला एवं सेवा क्षेत्र में आदर्शपूर्ण भाव रहेगा।
रेखा को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी


अक्टूबर माह की इस तारीख़ को जन्मे तत् अंक के नामाक्षर वाले लोग अभिनय कला में सफलता की उच्च श्रेणी तक पहुंचते हैं। आगामी समय रेखा को बहुत बड़ी पदपूर्ण सफलता एवं ख्याति प्रदान करने जा रहा है। सामाजिक स्तर पर उनको कोई बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।  
कुल मिलाकर रेखा का आने वाला समय कुछेक बिंदुओं को छोड़ कर प्रगतिशील एवं उत्तम रहेगा।
लकी दिन— गुरुवार, शुक्रवार एवं मंगलवार
लकी रंग— चमकीला गुलाबी, बैंगनी, हल्का जामुनी या इनके ही शेड्स।
लकी रत्न— नीलमणि, बिल्लौर एवं फ़ीरोज़ा

तेलुगू की भानुरेखा हो गई हिंदी फिल्मों की 'उमराव जान'

कहानी रेखा के सिंदूर, जया के आंसू और अमिताभ की हैरानी की

 


Posted By: Kartikeya Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.