Happy Women's Day 2021: 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है वुमेंस डे, जानें इस बार की क्या है थीम

Happy Womens Day 2021 8 मार्च को दुनियाभर में इंटरनेशनल वुमेंस डे मनाया जा रहा है। यह दिन महिलाओं के लिए काफी खास है। दुनिया भर में महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुकता का यह दिन इस बार भी खास तरीके से सेलीब्रेट किया जा रहा है। आइए जानें 2021 की थीम क्या है अौर क्यों है ये स्पेशल।

Updated Date: Mon, 08 Mar 2021 09:58 AM (IST)

कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। Happy Womens Day 2021 दुनिया भर में हर साल 8 मार्च को 'इंटरनेशनल वुमेंस डे' मनाया जाता है। यह दिन महिलाओं की सफलता और सांस्कृतिक, राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक विकास में भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है। लोगों को महिलाओं के अधिकारों और लैंगिक समानता के बारे में जागरूक करने के लिए भी महिला दिवस का महत्व बढ़ जाता है। महिलाअों को आगे बढ़ाने या उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए कोई एक दिन नहीं चुना जा सकता, यह ऐसी प्रक्रिया है जो साल के हर दिन चलनी चाहिए। मगर इसके बावजूद अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस हर साल 8 मार्च को क्यों मनाया जाता है। इसके पीछे की वजह काफी रोचक है।

8 मार्च को क्यों मनाते हैं इंटरनेशनल वुमेंस डे
हर साल 8 मार्च को हम महिलाओं की उपलब्धियों का जश्न मनाते हैं। क्या आप जानते हैं कि तारीख कैसे तय की गई थी? साल 1917 में इसी दिन सोवियत रूस में महिलाओं को वोट डालने का अधिकार मिला था। बाद में, 8 मार्च एक राष्ट्रीय अवकाश बन गया और वह दिन कम्युनिस्ट देशों और समाजवादियों द्वारा सेलीब्रेट किया जाने लगा था। 1977 के बाद संयुक्त राष्ट्र ने इस दिन को मान्यता दी और इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का इतिहास
वुमेंस डे का इतिहास काफी पुराना है। साल 1908 में न्यूयाॅर्क शहर में करीब 15 हजार महिलाओं ने एक मार्च निकाला। इनकी मांग थी कि महिलाओं के काम के घंटो को कम किया जाए और उन्हें ज्यादा वेतन मिले। यही नहीं इन महिलाओं ने वोट डालने का अधिकार भी मांगा था। इसके एक साल बाद अमेरिका की सोशलिस्ट पार्टी ने पहला नेशनल वुमेंस डे घोषित कर दिया। उस वक्त तक यह महिला दिवस सिर्फ एक देश तक सीमित था मगर इसे इंटरनेशनल प्लेटफाॅर्म तक पहुंचाया क्लेरा जेटकिन नाम की महिला ने। क्लेरा ने साल 1910 में कोपेनहेगन में हुए महिलाओं के एक कांफ्रेंस में अपना सुझाव दिया। उस मीटिंग में 17 देशों की 100 महिलाओं ने भाग लिया था और सभी ने सर्वसम्मति से इस सजेशन को मान लिया। जिसके बाद हर देश में यह महिला दिवस मनाया जाने लगा।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2021 का महत्व
यह महिलाओं के अधिकारों और लैंगिक समानता के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने का दिन है। यह दिन महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक उपलब्धियों का जश्न मनाता है। साथ ही, इस महिला दिवस को मनाने का मकसद यह भी है कि महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए कि कोई भी बाधा उनके सपने को पूरा करने से नहीं रोक सकती।

2021 की थीम है '#ChooseToChallenge'
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2021 की थीम '#ChooseToChallenge'है। यह बताता है कि महिलाएं अपने विचारों और कार्यों के लिए हर रोज जिम्मेदार हैं और वे दुनिया को हर रोज चुनौती देती हैं। थीम का मकसद है कि महिलाएं दुनिया में लैंगिक असमानता को चुनौती दे सकती हैं। लोगों को महिलाओं की उपलब्धियों का जश्न मनाने की जरूरत है और दुनिया को समानता के साथ रहना चाहिए। इंटरनेशनल वुमेंस डे की अफिशल वेबसाइट पर थीम को लेकर डिटेल में जानकारी दी गई है। इस चैलेंज के तहत आपको एक हाथ ऊपर उठाकर फोटो क्लिक करके भेजनी है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.