गोरखपुर हरियाणा से पहुंचा दूल्हा करता रहा इंतजार दुल्हन एेसे हुर्इ फरार

2019-01-07T10:59:52Z

हरियाणा के अविवाहित युवकों से गोरखपुर की युवतियों की शादी कराने के नाम पर जमकर खेल चल रहा है

-दो युवकों से 90 हजार ठगकर सहयोगियों संग फरार हुई बिचौलिया महिला

-सीएम के कैंप ऑफिस में शिकायत, पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: हरियाणा के अविवाहित युवकों से गोरखपुर की युवतियों की शादी कराने के नाम पर जमकर खेल चल रहा है. कुशीनगर जिले में सक्रिय गैंग के सदस्य एक तरफ जहां हरियाणा के लोगों से शादी कराने के लिए युवती उपलब्ध कराकर ठगी कर रहे. वहीं, युवतियों के परिजनों को मोटी रकम देने का झांसा दे रहे हैं. कुशीनगर में शादी कराने का गैंग चलाने वाली महिला और उसके सहयोगियों का हरियाणा के दो युवकों से एक लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया है. शादी का झांसा देकर युवकों को महिला ने कप्तानगंज बुलाया. खेल के मैदान में स्टैंप पेपर पर शादी का एग्रीमेंट कराकर महिला और उसके सहयोगी दुल्हनों को लेकर फरार हो गए. नकदी और दुल्हन गंवाने के बाद हरियाणा निवासी युवक कार्रवाई के लिए भटक रहे हैं. गोरखनाथ मंदिर स्थित सीएम कैंप कार्यालय के निर्देश पर भी कप्तानगंज पुलिस कोई एक्शन नहीं ले रही.

फोन कर बुलाया, स्टैंप पर बनाया इकरारनामा
हरियाणा के कैथल जिले के कलायत, कैलरम निवासी जगदीश और जोगिंदर शादी के नाम पर जालसाजी के शिकार हुए हैं. दोनों की शादी नहीं हो रही थी. उनके गांव के बलदेव ने कुशीनगर की काजल का मोबाइल नंबर दिया. बातचीत होने पर काजल ने दोनों की शादी कराने का आश्वासन दिया. दोनों को दो जनवरी की रात कप्तानगंज बुलाया. जगदीश और जोगिंदर जब कप्तानगंज में पहुंचे तो वहां होटल में किराए पर कमरे का इंतजाम काजल ने कराया था. होटल में ठहरने के दौरान काजल ने दोनों को शादी कराने के बदले रुपए मांगे. झांसे में आकर दोनों ने 50 हजार रुपए काजल को दे दिए. 15 हजार रुपए का ट्रांजेक्शन उसकी परिचित सानिया के एकाउंट में कर दिया. शादी के लिए करीब 35 हजार रुपए के कपड़े भी महिला ने खरीदवाए. तीन जनवरी को दोनों को महराजगंज कचहरी के पास बुलाया गया. वहां पहुंचने पर सौ-सौ रुपए के स्टैंप पेपर पर शादी का इकरारनामा बनवाया.

इंतजार करते रहे युवक, दुल्हनों संग फरार हुई महिला
कचहरी के पास खेल के मैदान में स्टैंप पेपर तैयार होने पर काजल ने कोर्ट मैरिज की बात युवकों को बताई. दोनों के लिए टेंपो रिजर्व कर दुल्हन को तैयार करके लाने की बात कहकर चली गई. धीरे-धीरे उसके साथ आए 10-12 की संख्या में जुटे लोग भी खिसक गए. काफी देर तक जगदीश और जोगिंदर अपनी दुल्हनों के आने का इंतजार करते रहे. उनके न पहुंचने पर जब काजल को फोन किया तो उसका कहीं पता नहीं लगा. परेशान होकर युवक कप्तानगंज पहुंचे. वहां पुलिस को मामले की जानकारी दी. लेकिन थाने में मौजूद लोगों ने उनकी बातें अनसुनी कर दी. परेशान होकर दोनों गोरखनाथ मंदिर पहुंचे. गोरखनाथ मंदिर में शिकायत करने पर कप्तानगंज पुलिस ने उनकी बात सुनी. लेकिन आरोपित महिला और उसके सहयोगियों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. युवकों का कहना है कि शादी के नाम पर उनके साथ ठगी की गई है. रुपए वापस मिलने पर वह हरियाणा लौट जाएंगे. युवकों ने बताया कि रुपए मांगने पर उनको फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी महिला दे रही थी.

जालसाजी का जरिया बनी शादी, कुशीनग से संचालन
हरियाणा के युवकों की शादी कराने के नाम पर पहले युवतियों की सौदेबाजी की थी. लेकिन अब शादी कराने का झांसा देकर ठगी भी शुरू हो गई है. कुशीनगर जिले में सक्रिय दो महिलाओं और उनसे जुड़े 13 लोग पूरे गैंग का संचालन कर रहे हैं. हरियाणा में जरूरतमंद युवकों को झांसा देकर महिला अपने जाल में फंसाती है. उनको गोरखपुर बुलाकर खूब खातिरदारी की जाती है. फिर कुछ युवतियों की फोटो दिखाकर शादी के बदले बिचौलिया रकम मांगते हैं. उधर, किसी परिवार की युवती को झांसा देकर बिचौलिया शादी के लिए राजी कर लेते हैं. युवतियों, किशोरियों को दी जाने वाली रकम का ज्यादातर हिस्सा भी गड़प लिया जाता है. पूर्व में कुशीनगर जिले में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिसमें शादी के बहाने युवतियों की सौदेबाजी की जा चुकी है. चौरीचौरा में मुकदमा दर्ज होने के बावजूद इस मामले में कोई कड़ी कार्रवाई नहीं हो सकी थी. उधर, हरियाणा से आने वाले युवक नकदी गंवाने के बाद मुकदमे के डर से फरार हो जाते हैं. वह बिचौलियों को दी गई नकदी भी वापस नहीं मांगते. इसलिए मामला दब जाता है. इस बार दो युवकों की शिकायत से बड़े रैकेट के बेनकाब होने की उम्मीद जगी है. 2018 में एक युवती को झांसा देकर बुढि़या माई मंदिर में शादी करा दी गई थी. जानकारी होने पर युवती वाहन से कूदकर फरार हो गई थी.

पहले भी आए हैं मामले
09
फरवरी 2018: हरियाणा के युवक को झांसा देकर बुढि़या माई मंदिर में शादी कराई. बेचने की जानकारी होने पर युवती ने शोर मचाया. मुकदमा दर्ज कराकर कार्रवाई की मांग उठाई.

 

06 फरवरी 2016: खोराबार एरिया के बुढि़या माई मंदिर में हरियाणा के युवक की शादी कराई गई. कुशीनगर की युवती को झांसा देकर गैंग ने बेच दिया था. युवती के शोर मचाने पर मामले का पर्दाफाश हुआ.

6 अगस्त 2016: हरियाणा के युवक की गोरखनाथ मंदिर में शादी कराई गई. होटल में युवती के बेचने की सूचना पुलिस ने पकड़ा. लेकिन बिना किसी जांच पड़ताल के आरोपी छूट गए थे.

08 जुलाई 2015: हाटा, परसौनी निवासी तीन महिलाओं सहित छह लोगों को पुलिस ने अरेस्ट किया. पकड़े गए लोगों ने एक किशोरी को बहला- फुसलाकर हरियाणा में बेच दिया था. इसके बदले में 50 हजार रुपए लिया था. छह माह बाद किसी तरह से भागकर किशोरी घर पहुंची तो उसने सारा भेद खोला.

25 जुलाई 2015: झंगहा एरिया के जंगल गौरी नंबर दो उर्फ अमहिया की एक युवती ने शादी के नाम पर बेचने का आरोप लगाया था. 21 जुलाई को हरियाणा से आए लोगों की मौजूदगी में तरकुलहा मंदिर में उसकी सगाई कराई गई. युवती को हरियाणा भेजने के नाम पर एक महिला ने 20 हजार रुपए लिए थे.

ऐसे शादी कराता है गैंग

गरीब परिवार की बेटियों की शादी के लिए गैंग की महिला तैयार करती हैं. उनको अच्छे घर में भेजने के बदले पैसे की बात होती है.

हरियाणा के युवकों से शादी की बात पक्की कराकर आनन फानन में बुलाया जाता है. मंदिर या अन्य किसी जगह पर शादी हो जाती है.

शादी में संबंधित पक्षों के नजदीकी रिश्तेदार शामिल नहीं होते. बल्कि सौदेबाजी करने वाले गैंग के सदस्य दोनों पक्षों की तरफ बंट जाते हैं.

कोर्ट मैरिज का झांसा देकर सौ रुपए के स्टैंप पेपर साथ रहने का इकरारनामा तैयार कराया जाता है. शादी के बाद युवतियों को तुरंत हरियाणा भेज देते हैं.

यह एक गंभीर प्रकरण है. इस मामले में एसपी कुशीनगर को निर्देशित किया जाएगा कि वह जांच कराएं. यदि ऐसा कोई गैंग एक्टिव है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. शादी का झांसा देकर युवतियों को बेचने या किसी से ठगी करने का मामला दर्ज कराया जाएगा.

जय नारायण सिंह, आईजी गोरखपुर

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.