UP: हाथरस में धारा 144 लागू जांच में जुटी एसआईटी, दुष्कर्म की पुष्टि के लिए फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार

हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद से पूरे इलाके में तनाव व्याप्त है। शासन-प्रशासन अलर्ट है। जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है। वहीं एसआईटी की टीम मामले की जांच में जुटी है।

Updated Date: Thu, 01 Oct 2020 11:14 AM (IST)

कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद से पूरे इलाके में तनाव व्याप्त है। ऐसे में प्रशासन अलर्ट है। इस संबंध में हाथरस डीएम प्रवीन कुमार लक्षकार ने कहा कि कहा कि सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी है। न्यूज एजेंसी एएनआई के ट्वीट के मुताबिक हाथरस की सीमाएं सील हैं। जिले में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है, 5 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है। हमें प्रियंका गांधी की यात्रा के बारे में कोई जानकारी नहीं है। एसआईटी आज पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात करेगी। हालांकि हालातों को देखते हुए मीडिया को अनुमति नहीं दी जाएगी।

Borders of Hathras are sealed. Section 144 of CrPC has been imposed in the district, more than 5 people are not allowed to gather. We've no information about Priyanka Gandhi's visit. SIT will meet the victim's family members today, media will not be allowed: Hathras DM P Lakshkar pic.twitter.com/bU3MXLre7x

— ANI UP (@ANINewsUP) October 1, 2020


मेडिकल रिपोर्ट में चोटों का उल्लेख
वहीं पीड़िता के साथ दुष्कर्म को लेकर हाथरस एसपी विक्रांत वीर ने कहा कि अलीगढ़ के अस्पताल की मेडिकल रिपोर्ट में चोटों का उल्लेख है लेकिन फिजिकल रिलेशन की पुष्टि नहीं है। वे फॉरेंसिक की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। अब तक डॉक्टरों का कहना है कि वे दुष्कर्म की पुष्टि नहीं कर रहे हैं। एफएसएल रिपोर्ट प्राप्त करने के बाद ही वह इस पर अपनी राय दे सकते हैं। हाथरस एसपी विक्रांत वीर ने यह भी जानकारी दी है कि एसआईटी कल भी जिले में आई थी। उसने गांव का दौरा किया था और पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी। एसआई सदस्यों ने अपराध स्थल का निरीक्षण भी किया था। टीम अभी भी गांव में है।

#WATCH: #Hathras SP says, "Medical report from Aligarh hospital mentions injuries but doesn't confirm forced sexual intercourse. They're waiting for report of Forensics. As of now, doctors say that they're not confirming rape, can give firm opinion only when they get FSL report." pic.twitter.com/R2HK0zZ6Pv

— ANI UP (@ANINewsUP) October 1, 2020


पुलिस पर जबरन शव जलाने का आरोप
बता दें कि हाथरस में 14 सितंबर को 19 साल की युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कालेज और अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि हालत में सुधार के कोई संकेत नहीं मिलने के बाद सोमवार को अलीगढ़ से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल भेज दिया गया था, जहां मंगलवार को उसका निधन हो गया है। इस मामले के बाद से पीड़ित परिवार व गांव के लोग काफी गुस्से में हैं। विपक्ष भी सरकार को घेरे हुए है। पुलिस पर जबरन शव जलाने का आरोप है। वहीं सीएम योगी ने बुधवार को इस मामले में एसआईटी गठित की गई है। पीएम ने भी कड़े एक्शन लेने को कहा है।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.