तोड़फोड़ के लिए रहें तैयार टूटेगा आशियाना और दुकान

2018-04-09T07:01:49Z

नवाब युसुफ रोड के बाद अब बाकियों का नंबर

बगैर किसी नोटिस और चेतावनी के होगी कार्रवाई

कुंभ मेला के लिए विशेष अधिकार का प्रयोग कर रही सरकार

ALLAHABAD: शनिवार को नवाब युसुफ रोड पर हुई जबर्दस्त तोड़फोड़ की कार्रवाई ने दर्जनों परिवारों, दुकानदारों व लोगों को हिला कर रख दिया। नवाब युसुफ रोड के बाद शहर की अन्य करीब एक दर्जन अन्य सड़कों का नंबर आने वाला है। यहां संकरी हो चुकी सड़क को चौड़ा करने के लिए अवैध निर्माण को गिराया जाना है। इसके लिए नगर निगम, एडीए के साथ ही एडमिनिस्ट्रेशन ने नाप-जोख की तैयारी शुरू कर दी है। सोमवार से एक बार फिर एडीए और नगर निगम की कार्रवाई तेज होगी।

नोटिस नहीं, सीधा एक्शन

कुंभ मेला 2019 में आने वाले करोड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए शहर की प्रमुख सड़कों को चौड़ा करने का अभियान एडमिनिस्ट्रेशन ने शुरू कर दिया है। इसके लिए किसी को न तो नोटिस दी जा रही है और और न ही कोई मुआवजा दिया जा रहा है। एडीए के अधिकारियों का कहना है कि जो भी कार्रवाई हो रही है, वह सड़क की जमीन पर हो रही है। जो सड़कें कभी 80 फीट चौड़ी थीं, वो अब 60 फीट चौड़ी ही रह गई हैं। इसलिए संकरी हो चुकी सड़कों को चौड़ा करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है।

छुट्टी के दिन कराई नाप-जोख

सड़कों के चौड़ीकरण का अभियान रविवार को अवकाश के दिन भी जारी रहा। रविवार को स्टेनली रोड पर अभियान चला कर अवैध निर्माण ढहाया गया। वहीं पीडी टंडन रोड व स्टेनली रोड पर डिवाइडर से सड़क के दोनों तरफ नाप-जोख कर लाल निशान लगाया गया।

नगर निगम द्वारा इन मार्गो पर चलाया जाना है अभियान

-नुरुल्ला रोड क्रासिंग से मीरापुर सब्जी मंडी

-रामप्रिया रोड

-तेलियरगंज से शिवकुटी जाने वाली रोड

-कसारी-मसारी जाने वाली रोड

-अल्लापुर में 80 फीट रोड

-मटियारा रोड

-दारागंज का मुख्य मार्ग

-टीपी नगर की कई सड़कें

एडीए द्वारा इन रोडों का कराया जाएगा चौड़ीकरण

-नवाब यूसुफ रोड

-सरदार पटेल मार्ग

-पीडी टंडन रोड

-लीडर रोड

-हिवेट रोड

-विवेकानंद मार्ग

-नूरुल्ला रोड स्टेशन से लेकर खुल्दाबाद पुलिस चौकी तक

-रामबाग रेलवे स्टेशन के सामने

-पुरानी जीटी रोड

-जॉनसेनगंज चौराहा से सिविल लाइंस में तुलसी चौराहा तक

-साउथ मलाका डॉट पुल से रामबाग चौराहा

एडीए हो या नगर निगम, किसी भी व्यक्ति की जमीन पर कब्जा नहीं कर सकता है। अगर जमीन सरकार की है तो फिर कार्रवाई की जा सकती है। लेकिन उसके लिए भी कार्रवाई से पहले नोटिस देना चाहिए। नोटिस की कार्रवाई करना मेंडेटरी है। वहीं अगर किसी की निजी जमीन सरकारी योजना के लिए कब्जा की जाती है तो उसके बदले कंपनसेशन भी देना चाहिए।

-इंद्र कुमार चतुर्वेदी

अध्यक्ष, हाईकोर्ट बार एसोसिएशन

सड़क चौड़ीकरण अभियान के दौरान जिन लोगों के मकान व दुकान में तोड़फोड़ हो रही है, उन्हें कंपनसेशन दिए जाने का तो सवाल ही नहीं उठता है। जो भी कार्रवाई हो रही है, वह कब्जा की गई सरकारी जमीन को खाली कराने के लिए की जा रही है। नवाब यूसुफ रोड से शुरुआत के बाद शहर के अन्य मार्गो पर भी अभियान चलेगा। जिन लोगों ने अवैध कब्जा किया है, उनके द्वारा किया गया अवैध निर्माण टूटेगा।

-आलोक पांडेय, प्रवर्तन अधिकारी

एडीए


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.