डाबरकोट में 12 दिन बाद खुला हाईवे

2018-08-02T06:00:34Z

- भूस्खलन रुकने के बाद एनएच ने मलबे के ऊपर हाईवे किया तैयार

- डाबरकोट में बीते कई दिनों से फंसे थे यात्रियों के वाहन

- जंगल चट्टी व हनुमान चट्टी के पास हाईवे बंद होने से यात्री परेशान

GARHWAL: यमुनोत्री हाईवे पर डाबरकोट के पास भूस्खलन रुकने के बाद एनएच ने मलबे के ऊपर हाईवे तैयार किया। इसके बाद पिछले 12 दिन से स्याना चट्टी में फंसे वाहनों को निकाला गया। वहीं, जंगल चट्टी और हनुमान चट्टी के पास भी हाईवे बंद होने से स्थानीय लोगों व यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

भूस्खलन के कारण बंद था हाईवे

बीते 21 जुलाई की शाम को डाबरकोट के पास भारी भूस्खलन होने से यमुनोत्री हाईवे बंद हो गया था। हाईवे बंद होने के कारण स्याना चट्टी में यात्रियों के कई वाहन फंस गए थे। मंगलवार की शाम को डाबरकोट में भूस्खलन रुका तो एनएच की टीम ने हाईवे को खोलने का काम शुरू किया। बुधवार सुबह एनएच की टीम ने हाईवे को वाहन निकालने लायक बनाया। लेकिन इस मार्ग पर दलदल होने के कारण वाहनों के फंसने का अंदेशा बना हुआ है, जिसके कारण वाहन ओजरी से स्याना चट्टी की ओर नहीं जा पा रहे हैं। वहीं इस मार्ग पर जंगल चट्टी और हनुमान चट्टी के पास हाईवे दो स्थानों पर बंद है। हाईवे पैदल आवाजाही के लिए भी नहीं बचा है। प्रशासन का दावा है कि हनुमान चट्टी और जंगल चट्टी के पास हाईवे सात दिनों के अंतराल में सुचारु हो जाएगा।

एक घंटे तक बंद रहा गंगोत्री हाईवे

NEW TEHRI: ऋषिकेश- गंगोत्री राजमार्ग दोपहर को नरेंद्रनगर के पास मलबा आने से कुछ देर के लिए बाधित रहा। वहीं उत्तरकाशी-लंबगांव-चमियाला-तिलवाड़ा यात्रा मार्ग भी चार दिनों से बंद पड़ा है। इसके अलावा सात ग्रामीण मार्ग बाधित हैं, इनमें से कई मार्ग तीन-चार दिन से बाधित हैं, जिस कारण ग्रामीणों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

लामबगड़ में हाईवे अवरुद्ध

GOPESHWAR: ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर लामबगड़ में मलबा आने से हाईवे अवरुद्ध है। बारिश से जिले में 24 संपर्क सड़कें भी बंद हैं। सुबह से जिले में बारिश का दौर जारी है। बदरीनाथ हाईवे पर लामबगड़ पर लगातार मलबा आ रहा है। सुबह छह बजे मलबा आने के कारण लामबगड़ में बदरीनाथ हाईवे अवरुद्ध हो गया था। नेशनल हाईवे लोनिवि ने मलबा हटाने का कार्य शुरू किया। मगर बार-बार पहाड़ी से पत्थर गिरने से मलबा हटाने में परेशानी हुई। सड़क बंद होने के कारण यात्रियों को फिलहाल सड़क के दोनों ओर रोका गया है। एनएच मलबा हटाने का काम कर रहा है। बारिश से जिले में 24 संपर्क सड़कें भी अवरुद्ध पड़ी हुई है।

ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे एक घंटे रहा बंद

NEWTEHRI: ऋषिकेश- गंगोत्री राजमार्ग दोपहर को नरेंद्रनगर के पास मलबा आने से कुछ देर के लिए बाधित रहा। वहीं उत्तरकाशी-लंबगांव-चमियाला-तिलवाड़ा यात्रा मार्ग भी चार दिनों से बंद पड़ा है। इसके अलावा सात ग्रामीण मार्ग बाधित हैं, इनमें से कई मार्ग तीन-चार दिन से बाधित हैं, जिस कारण ग्रामीणों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बाद में मलबा हटाए जाने के बाद करीब एक बजकर 40 मिनट पर मार्ग सुचारू हो पाया।

सड़कें बंद होने से ग्रामीणों परेशान

DEWAL: देवाल ब्लॉक के सीमावर्ती गांव में भूस्खलन और मार्गो पर मलबा जमा होने के कारण ग्रामीणों की समस्याएं बढ़ गई हैं। इसके चलते ग्रामीणों को जरूरी दैनिक सामग्री, खाद्यान्न, मिट्टी का तेल आदि पहुंचाना मुश्किल हो गया है। मार्ग बंद होने के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने प्रशासन से जल्द बंद सड़कों को खुलवाने की मांग की है। कहा कि अगर शीघ्र बंद पड़े मोटर मार्गो पर आवागमन शुरू नहीं किया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

एक घंटे तक बंद रहा

ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे

संवाद सहयोगी, नई टिहरी : ऋषिकेश- गंगोत्री राजमार्ग दोपहर को नरेंद्रनगर के पास मलबा आने से कुछ देर के लिए बाधित रहा। वहीं उत्तरकाशी-लंबगांव-चमियाला-तिलवाड़ा यात्रा मार्ग भी चार दिनों से बंद पड़ा है। इसके अलावा सात ग्रामीण मार्ग बाधित हैं, इनमें से कई मार्ग तीन-चार दिन से बाधित हैं, जिस कारण ग्रामीणों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

बुधवार को ऋषिकेश-गंगोत्री राजमार्ग के नरेंद्रनगर के समीप करीब साढ़े 12 बजे मलबा आने के कारण राजमार्ग कुछ समय के लिए बाधित हो गया। जिस कारण यहां पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। बाद में मलबा हटाए जाने के बाद करीब एक बजकर 40 मिनट पर मार्ग सुचारू हो पाया। पूर्व में भी राजमार्ग कई बार बाधित हो चुका है। इसके अलावा उत्तरकाशी, लंबगांव-तिलवाड़ा यात्रा यात्रा मार्ग भी लंबगांव के समीप पुश्ता क्षतिग्रस्त होने से पिछले चार दिनों से बंद पड़ा है। इस मार्ग को खुलने में अभी कुछ समय और लग सकता है। जिले के सात ग्रामीण मार्ग भी बाधित हैं। इसमें से कई मार्ग पिछले तीन-चार दिन से बंद हैं। जिससे ग्रामीणों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई जगहों पर लोगों को पैदल दूरी नापनी पड़ रही है। वहीं मार्ग बाधित होने के कारण क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

- बंद पड़े मार्ग

पिलखी-नैन-बौंसला

कोटी-जाख- ढखवाण गांव

सेंदुल-कोटी- बनगांव

नरेंद्रनगर- नीर

सरक्याणा- सिलखाल

गोनाकोट

रजाखेत- घनसाली

लामबगड़ में हाईवे और 24 संपर्क मार्ग बंद

गोपेश्वर : ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर लामबगड़ में मलबा आने से हाईवे अवरुद्ध है। बारिश से जिले में 24 संपर्क सड़कें भी बंद हैं। सुबह से जिले में बारिश का दौर जारी है।

बदरीनाथ हाईवे पर लामबगड़ इस बार भी सिरदर्द बना हुआ है। सुबह छह बजे मलबा आने के कारण लामबगड़ में बदरीनाथ हाईवे अवरुद्ध हो गया था। लगातार हो रही बारिश के चलते पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं। नेशनल हाईवे लोनिवि ने बीच में मलबा हटाने का कार्य शुरू किया। मगर बार-बार पहाड़ी से गिर रहे पत्थर मलबा हटाने में रोड़ा बन रहे हैं। सड़क बंद होने के कारण यात्रियों को फिलहाल सड़क के दोनों ओर रोका गया है। एनएच मौसम साफ होने पर मलबा हटाने का काम कर रहा है। बारिश से जिले में 24 संपर्क सड़कें भी अवरुद्ध पड़ी हुई है। बीती रात के बाद सुबह से रुक-रुककर हो रही बारिश के चलते आम जनजीवन अस्त व्यस्त है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदकिशोर जोशी ने बताया कि एनएच लामबगड़ में मौसम साफ होने पर हाईवे को खोलने का काम कर रहा है। (संस)

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.