घर में कौड़ी नहीं गोल्ड मेडलिस्ट श्वेता कैसे खेलने जाएगी बेल्जियम

2018-12-24T06:00:14Z

-शेखपुरा की श्वेता का चयन राष्ट्रीय पेंचक सिलाट टीम में

BIHARSHARIFF/PATNA: बेहद गरीब और होनहार बेटी श्वेता का चयन बेल्जियम में होने वाले अंतरराष्ट्रीय पेंचक सिलाट चैंपियनशिप के लिए किया गया है। श्वेता का चयन पेंचक सिलाट की इंडियन टीम में किया गया है। बेल्जियम में यह अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता अगले साल 12 से 18 मई तक होगी। श्वेता शेखपुरा जिले के केवटी गांव की रहने वाली है। राष्ट्रीय टीम में चयन होने के बाद अब श्वेता के सामने बेल्जियम आने-जाने का खर्च जुटाना बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। बताया गया कि दो महीने पहले अमृतसर में आयोजित नेशनल चैंपियनशिप में श्वेता में गोल्ड मेडल हासिल किया था। इसी प्रदर्शन के आधार पर श्वेता का चयन नेशनल पेंचक सिलाट टीम में किया गया है।

माता-पिता हैं दैनिक मजदूर

भारतीय टीम का हिस्सा बनकर बेल्जियम में अपनी खेल प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए श्वेता को लगभग सवा लाख रुपए चाहिए। घर की स्थिति यह है कि उसके माता-पिता गांव में दैनिक मजदूरी करते हैं, तब चूल्हा जलता है। अगर इस बार श्वेता भारतीय टीम का हिस्सा बनकर बेल्जियम जाने में सफल हो गई तो दो साल के भीतर उसका यह तीसरा विदेशी दौरा होगा।

समाजसेवी कर रहे मदद

इस बाबत सामाजिक कार्यकर्ता और एलआईसी अभिकर्ता ब्रजेश कुमार सुमन ने बताया कि आर्थिक तंगी की वजह से इस होनहार बेटी का खेल करियर दांव पर लग गया है। पहले कई बार श्वेता की आर्थिक मदद कर चुके ब्रजेश ने इस बार जिला के तमाम लोगों से श्वेता को मदद करने की अपील की है। ब्रजेश ने बताया कि बेल्जियम जाने के लिए श्वेता को सरकारी मदद के लिए जिला के खेल पदाधिकारी से कहा गया है। एक-दो दिनों में डीएम से भी मिलकर मदद की गुहार लगाई जाएगी।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.