Hyderabad Encounter: पुलिस कमिश्नर वीसी सज्ज्नार ने प्रेस कांफ्रेंस में बताई एनकाउंटर की पूरी कहानी

2019-12-06T16:05:59Z

Hyderabad Encounter हैदराबाद में 26 साल की महिला डाॅक्टर के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या करने वाले चारो आरोपियों का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया है। साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्ज्नार ने एनकाउंटर से जुड़ी जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों ने पुलिस के दो हथियार छीन लिए और उन पर गोली चलाने की कोशिश की।

हैदराबाद (पीटीआई)। साइबराबाद पुलिस कमिश्नर वीसी सज्ज्नार ने शुक्रवार को हैदराबाद में 26 साल की महिला डाॅक्टर के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या करने वाले चारो आरोपियों के एनकाउंटर को लेकर एक प्रेस कांफ्रेंस किया। इसमें उन्होंने बताया, 'आरोपियों ने पुलिस के दो हथियार छीन लिए और उन पर गोली चलाने की कोशिश की। इस घटना के बाद हमने गोलीबारी भी की, कुछ समय बाद हमने उन्हें मृत पाया।' उन्होंने बताया कि आरोपी मोहम्मद आरिफ ने पहले गोली चलाई, यहां तक आरोपियों ने पुलिस पर घटनास्थल पर पत्थर और डंडों से हमला किया, इस मुठभेड़ में एक सब-इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल घायल हो गए हैं, उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।& इसके साथ सज्ज्नार ने यह भी बताया कि पुलिस से छीने गए हथियार 'अनलॉक' थे।

जांच के सिलसिले में आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई पुलिस
सज्ज्नार ने मीडिया से बात करते हुए कहा, '4 और 5 दिसंबर को हमने आरोपियों को पुलिस हिरासत में लेने के बाद पूछताछ की। इसके बाद आज पुलिस आरोपी को जांच के सिलसिले में घटनास्थल पर ले गई। आरोपियों ने पुलिस पर लाठियों से हमला किया और फिर हमसे हथियार छीन लिए और उन्होंने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। पुलिस ने उन्हें चेतावनी दी और आत्मसमर्पण करने के लिए कहा लेकिन वे गोलियां चलाते रहे। फिर हमने गोलाबारी की और वे मुठभेड़ में मारे गए। आरोपियों के शव को पीएमई के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल में भेज दिया गया है।'
Hyderabad Encounter: चारों आरोपियों के एनकाउंटर पर मेनका गांधी, शशि थरूर और सीताराम येचुरी ने उठाए सवाल

घटनास्थल पर बरामद किया गया पीड़िता का सेल फोन

सज्ज्नार ने आगे बताया, 'मुठभेड़ के समय आरोपियों के साथ लगभग 10 पुलिसकर्मी थे। हमने घटनास्थल पर पीड़ित का सेलफोन बरामद किया है। मैं केवल यह कह सकता हूं कि कानून ने अपना कर्तव्य निभाया है।' वहीं, एनएचआरसी द्वारा इस मामले में संज्ञान लेने की बात पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा, 'राज्य सरकार, एनएचआरसी और सभी संबंधितों में से जो कोई भी संज्ञान लेगा, हम इसका जवाब देंगे।' उन्होंने कहा कि उन्हें संदेह है कि आरोपी कर्नाटक में कई अन्य मामलों में भी शामिल थे, जांच जारी है। इसके अलावा उन्होंने मीडिया से कहा कि कोई भी पीड़िता और उसके परिवार की पहचान को उजागर ना करे, उनके निजता का सम्मान किया जाना चाहिए।


Posted By: Mukul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.