मच्छर काटे या ठंड लगे, स्टूडेंट्स कल से चप्पल में ही देंगे एग्जाम

2020-02-16T05:46:05Z

-मैट्रिक का एग्जाम कल से शुरू, पटना में 74 एग्जाम सेंटर पर परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

PATNA: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से मैट्रिक परीक्षा 17 फरवरी से राज्य के 1368 परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित होगी। नकल मुक्तएग्जाम के लिए बोर्ड ने पूरी तैयारी कर ली है। मैट्रिक परीक्षार्थी को जूता-मोजा पहन कर एग्जाम सेंटर में एंट्री नहीं मिलेगी। सिर्फ चप्पल में ही एंट्री कर सकेंगे। साथ ही बेल्ट पहनने की अनुमति भी नहीं है। ऐसे में कई पेरेंट्स सवाल उठाने लगे हैं कि अभी ठंड जारी है, जबकि एग्जाम सेंटर पर मच्छरों का आतंक रहता है। ऐसे में ठंड लगे या मच्छर काटे परीक्षार्थियों को चप्पल में ही यह परीक्षा देनी होगी।

15 लाख से अधिक स्टूडेंट्स

परीक्षा में 15 लाख 29 हजार 393 स्टूडेंट्स शामिल होंगे। परीक्षा दो पाली में होगी। पहली पाली में सात लाख 74 हजार 415 स्टूडेंट्स शामिल होंगे वहीं दूसरी पाली में सात लाख 54 हजार 978 स्टूडेंट्स शामिल होंगे। ये जानकारी बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने दी। उन्होंने बताया कि प्रथम पाली में शामिल परीक्षार्थी रोज प्रथम पाली में ही परीक्षा देंगे। वहीं दूसरी पाली वाले परीक्षार्थी भी रोज दूसरी पाली में ही परीक्षा देंगे। अध्यक्ष ने बताया कि पहली बार परीक्षा में 50 परसेंट वस्तुनिष्ठ प्रश्न में 20 परसेंट अतिरिक्त विकल्प वाले प्रश्न होंगे। यानी 100 अंकों की परीक्षा में 60 वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की संख्या रहेगी, लेकिन इसमें 50 प्रश्नों को

हल करना होगा।

9.20 बजे लास्ट एंट्री

आनंद किशोर ने बताया कि मैट्रिक एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स हर हाल में 9 बजे तक सेंटर पर पहुंच जाएं। 9.20 में लास्ट एंट्री होगी उसके बाद एंट्री नहीं दी जाएगी। वहीं दूसरी पाली में 1.45 में शुरू होगा। इसके लिए लास्ट एंट्री 1.35 तक ही दी जाएगी। हर जिलों में एग्जाम सेंटर पर तीन तरह के मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं वहीं स्टूडेंट्स की तलाशी दो स्तर पर की जाएगी। इसके अलावा नकल रोकने के लिए हर सेंटर पर वीडियोग्राफी की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि फर्जी स्टूडेंट्स को रोकने के लिए उत्तर पुस्तिका और ओएमआर पर भी परीक्षार्थी का फोटो रहेगा। इससे पहली बार 92 लाख उत्तर पुस्तिका और 92 लाख ओएमआर पर परीक्षार्थी की फोटो रहेगी।

छात्राओं की संख्या

आनंद किशोर ने बताया कि मैट्रिक में कुल 15 लाख 29 हजार 393 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसके लिए प्रदेश भर में 1368 एग्जाम सेंटर बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस बार छात्राओं की संख्या छात्रों की अपेक्षा अधिक है। जहां छात्रा 7 लाख 83 हजार 34 हैं वहीं छात्र की संख्या 7 लाख 46 हजार 359 हैं। इन स्टूडेंट्स को तलाशी दो स्तरों पर होगी। फ‌र्स्ट एंट्री गेट पर सेकेंड एग्जाम हॉल में। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी जूता-मौजा पहन कर सेंटर पर आने की अनुमति नहीं होगी। 25 परीक्षार्थी पर एक वीक्षक रहेंगे। सभी जिलों में चार-चार

मॉडल एग्जाम सेंटर बनाए गए हैं। मॉडल केंद्र पर दंडाधिकारी, वीक्षक, सुरक्षाकर्मी सभी महिलाएं ही होंगी। मॉडल एग्जाम सेंटर की तैयारी के लिए सभी जिलों को एक-एक लाख रुपए दिए गए हैं।

पटना में 69 हजार परीक्षार्थी

पटना जिले के 74 एग्जाम सेंटर पर इस बार 69 हजार 178 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। पटना जिला में छात्र 32 हजार 285 और छात्राएं 36 हजार 890 हैं। शास्त्रीनगर बालिका हाईस्कूल, गर्दनीबाग ग‌र्ल्स हाईस्कूल, बांकीपुर ग‌र्ल्स हाईस्कूल और कमला नेहरू हाई स्कूल को मॉडल एग्जाम सेंटर बनाया गया है।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.