Rohilkhand University इंप्रूवमेंट के लिए करें अप्लाई 8 अगस्त तक का समय

2019-07-16T10:24:15Z

इंटरनेट की मार्कशीट के आधार पर भी आवेदन हो सकेगा। छह अगस्त तक हार्ड कॉपी जमा करें

535-कॉलेजेज है आरयू से संबद्ध
9-डिस्ट्रिक्ट में हैं आरयू के कॉलेजेज

85-हजार से अधिक स्टूडेंट्स आरयू के मेन एग्जाम में हो गए थे फेल
15-जुलाई से शुरू हो गए हैं इम्प्रूवमेंट एग्जाम फॉर्म
8-अगस्त तक भर सकेंगे इम्प्रूवमेंट एग्जाम फॉर्म

bareilly@inext.co.in
BAREILLY: आरयू ने मेन एग्जाम में फेल हुए यूजी और पीजी के स्टूडेंट्स के लिए इम्प्रूवमेंट फॉर्म मंडे से ऑनलाइन शुरू कर दिए हैं. फॉर्म ऑनलाइन फिल करने की लास्ट डेट आठ अगस्त 2019 रखी गई है. इम्प्रूवमेंट फॉर्म की आरयू ने पूरी प्रक्रिया को ऑनलाइन रखा है. फीस भी कैंडिडेट्स ऑनलाइन ही जमा करेंगें. यह जानकारी आरयू परीक्षा नियंत्रक संजीव कुमार सिंह ने दी.
6 अगस्त तक जमा करें हार्ड कॉपी
इंप्रूवमेंट के भरे हुए फॉर्म की हार्ड कॉपी को कैंडिडेट्स 6 अगस्त तक संबधित कॉलेज में जमा कर सकते हैं. महाविद्यालय द्वारा परीक्षा अनुमोदित कराने की लास्ट डेट 8 अगस्त रखी है. जबकि महाविद्यालय विवि में 9 अगस्त तक फॉर्म जमा कर सकेंगे. इसके बाद इंप्रूवमेंट फॉर्म जमा नहीं किए जाएंगे.
625 रुपए रखी फीस
आरयू मेन एग्जाम 2018 तथा पूर्व वर्षो के स्नातक स्तर के खेलकूद एवं शारीरिक शिक्षा तथा पर्यावरण विज्ञान में नॉट क्लियरड कैंडिडेट्स भी इम्प्रूवमेंट 15 जुलाई से आरयू की वेबसाइट www.mjpru.ac.in पर भर सकेंगे. इंप्रूवमेंट एग्जाम फॉर्म भरने के लिए आरयू ने 825 रुपए फीस निर्धारित की है. निर्धारित फीस के लिए कैडिडेट्स ऑनलाइन सबमिट कर सकेंगे.
85 हजार से अधिक स्टूडेंट्स हुए थे फेल
बता दें कि आरयू के मेन एग्जाम में इस बार 85 हजार से अधिक कैंडिडेट्स फेल हो गए थे. आरयू ने पहली बार यूजी और पीजी का संयुक्त एग्जाम परिणाम जारी किया था. जिसमें कैंडिडेट्स की फेल पास की स्थित सामने आई थी. इसमें बीए, बीएससी, बीकॉम, एमए, एमएससी और एमकॉम में करीब 85 हजार से अधिक कैंडिडेट्स फेल हुए. मामला उच्च शिक्षा विभाग के संज्ञान में आया तो उच्च शिक्षा विभाग ने आरयू प्रशासन से परीक्षा-रिजल्ट की रिपोर्ट मांगी थी, और फेल होने का कारण भी पूछा था.

बीएससी फ‌र्स्ट ईयर का सुधरा रिजल्ट

आरयू के मेन एग्जाम में इस बार पांच लाख से अधिक कैंडिडेट्स शामिल हुए थे. बीएससी प्रथम वर्ष के रिजल्ट में अबकी थोड़ा सुधार हुआ है. इस बार 33 फीसद विद्यार्थी पास हुए, जबकि पिछले साल 22 फीसद ही पास हुए थे. बीएससी सेकंड और लास्ट ईयर का रिजल्ट भी थोड़ा सुधरा है.



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.