ट्रेडिशनल और एंटीक ज्वैलरी के बढ़ गए कद्रदान

2018-04-16T07:00:07Z

-दादी-नानी के साथ राजा-महाराजा के जमाने की ज्वैलरी की बढ़ गई है डिमांड

-अक्षय तृतीया पर काफी पसंद की जा रही है एंटीक ज्वैलरी

ALLAHABAD: सराफा बाजार में सोने की ऐसी डिजाइनें आ गई हैं, जो हैं सोने की मगर दिखती हैं मुगलकालीन और राजा महराजाओं के दौर सरीखी। दुकानदारों की मानें तो बाजार पर यह फिल्मों का असर है। बाजीराव मस्तानी, पद्मावती और जोधा अकबर आदि ऐतिहासिक पात्रों पर आधारित फिल्मों ने आभूषणों के बाजार का हुलिया ही बदल दिया है। फिल्मों के हिसाब से आभूषणों की डिजाइन लगातार बदल रही है।

बना हुआ है आकर्षण

लोग फैशन और चकाचौंध की दुनिया में चाहे कितना भी डूब जाएं, लेकिन अपनी सभ्यता और संस्कृति उन्हें हमेशा आकर्षित करती है। ज्वैलरी की दुनिया में भी अब कुछ ऐसा ही हो रहा है। वेस्टर्न डिजाइन और पैटर्न के बाद एक बार फिर दादी-नानी के साथ ही राजा-महाराजाओं के जमाने के ट्रेडिशनल ज्वैलरी काफी पसंद की जा रही है। यंगस्टर्स की पसंद को ध्यान में रखते हुए ही इस बार अक्षय तृतीया पर ट्रेडिशनल और एंटीक ज्वैलरी की आकर्षक रेंज मंगाई गई है, जो एक नजर में लोगों को पसंद आएगी।

पसंद आएगी पद्मावती कलेक्शन

ट्रेडिशनल डिजाइन और ज्वैलरी से युवा पीढ़ी को जोड़ने के लिए शहर के सराफा कारोबारियों के साथ ही फेमस ब्रांड तनिष्क ने विशेष प्रयास किया है। पवित्रता, श्रृंगार, संस्कृति, परंपरा और इतिहास को ध्यान में रखते हुए तनिष्क ने रिवाह और पद्मावती कलेक्शन पेश किया है। यह उस दौर की कला को दर्शाता है, जब आभूषण उत्कृष्टता, शिल्प, बारीकी और भव्यता के प्रतीक होते थे।

संस्कृति की दिखती है झलक

गोल्ड, मोती, ओपल्स, टोपाज, नगों और कुंदन का इस्तेमाल कर कलाकारों ने पुराने दौर के आभूषणों की खूबसूरती को जीवंत बनाया है। सराफा कारोबारियों ने हाथ से बने आभूषणों की परंपरा और श्रृंखला को एक बार फिर जिंदा करने का प्रयास किया है। यह सब एंटीक ज्वैलरी में दिखता है।

ओल्ड इज गोल्ड

ओल्ड इज गोल्ड यूं ही नहीं कहा गया है। महिलाएं अपनी दादी-नानी की पुरानी संस्कृति, सभ्यता और परंपरा की झलक वाले गहनों को देखती हैं। इसके बाद उनके मन में ख्याल आता है कि काश ये गहना उनके पास होता। वे इसे अपनी बेटी व बहू को उपहार स्वरूप देतीं। ऐसा सोचने वाली महिलाओं को ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इस बार अक्षय तृतीया पर इस तरह के डिजाइन वाली ज्वैलरी की आकर्षक रेंज मार्केट में अवेलेबल हैं।

तनिष्क ज्वैलरी बनाने के साथ ही लोगों की भावनाओं और एहसास को संजोने का भी काम करता है। इसी भावना को ध्यान में रखते हुए तनिष्क ने ट्रैडिशनल डिजाइन वाली ज्वैलरी रिवाह और पद्मावती के आकर्षक रेंज को मार्केट में उतारा है, जो काफी पसंद किए जा रहे हैं।

-अजमत सिद्दिकी

डायरेक्टर

तनिष्क शो रूम, इलाहाबाद

इस बार अक्षय तृतीया पर हमने एंटीक ज्वैलरी की आकर्षक रेंज मंगाई है। पद्मावती कलेक्शन के साथ ही कोयंबटूर के हैवी लुक वाली ज्वैलरी महिलाओं को काफी पसंद आएगी।

-उत्कर्ष सिंह

सिसोदिया जेम्स एंड ज्वैलर्स

सिविल लाइंस

इलाहाबाद

यह है खास

-रानी पद्मावती मॉडल एंटीक ज्वैलरी और बाहुबली मॉडल चेन की है डिमांड

-बेगम जॉन मॉडल एंटीक नेकलेस और छह दशक पुरानी हंसुली की एंटीक डिजाइन का अब नया दौर शुरू हो गया है।

-सीप, गोमेद, मोती, शंख आदि समुद्री रत्नों पर मीनाकारी वाले आभूषण प्राचीन भारत की साज-सज्जा की याद दिला रहे हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.