Ind Vs Aus इस वजह से पर्थ टेस्ट हार गया भारत

2018-12-18T10:12:33Z

भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट पर्थ में खेला गया। इस टेस्ट में भारत को 146 रनों से हार मिली। भारत की इस हार की वजह आॅस्ट्रेलियार्इ गेंदबाज मिचेल स्टाॅर्क आैर नाॅथन लियोन रहे।

नई दिल्ली (जेएनएन)।  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में खेले गए दूसरे टेस्ट में भारत को 146 रन से हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 287 रन का लक्ष्य रखा था, जिसके जवाब में भारत की दूसरी पारी केवल 140 रन पर ही सिमट गई। दूसरी पारी में भारत के सभी बल्लेबाजों ने निराश किया, नहीं ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों ने शुरू से ही भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर के रखा। जिसके चलते भारतीय बल्लेबाजों को काफी परेशानी हुर्इ।
भारतीय बल्लेबाज बिना संघर्ष करे मैदान छोड़ गए

287 रनों के टारगेट का पीछा करते हुए भारत ने चौथे दिन स्टम्प्स के समय दूसरी पारी में 41ओवरों में 5 विकेट पर 112 रन बना लिए थे। हनुमा विहारी 24 और रिषभ पंत 9 रन बनाकर क्रीज पर थे। भारत को जीत के लिए 175 रन और बनाने थे जबकि उसके 5 विकेट शेष थे लेकिन भारतीय बल्लेबाज बिना संघर्ष करे मैदान छोड़ गए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से दूसरी पारी में मिशेल स्टार्क और नाथन लियोन ने 3-3 विकेट हासिल किए, जबकि जोश हेजलवुड और पैट कमिंस ने 2-2 विकेट चटकाए। इसके अलावा मैच में कुल 8 विकेट लेने वाले नाथन लियोन मैन ऑफ द मैच बने।
उस्मान ख्वाजा ने खेली बेहतरीन पारी
वहीं ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने उस्मान ख्वाजा (72) और कप्तान टिम पेन (37) के बीच पांचवें विकेट की 72 रनों की साझेदारी की बदौलत दूसरी पारी में 243 रन तक पहुंची, वहीं पहली पारी में उसे 43 रन की बढ़त मिली थी, इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 287 रन का लक्ष्य रखा। ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी की शुरुआत अच्छी रही और तीसरे दिन दूसरे सत्र में भारतीय गेंदबाजों को कोई सफलता नहीं मिल पाई।
विराट ने पहली पारी में जड़ा था शतक
शमी द्वारा डाले गए पारी के 13वें ओवर की पहली गेंद फिंच की उंगली पर लगी और उन्हें फिजियो को बुलाना पड़ा और इसी के साथ टी की घोषणा कर दी गई। फिंच (25 रन) को चोट लगी जिसके चलते वे रिटायर्ड हर्ट हुए और टी के बाद बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे। हैरिस 20 रन बनाकर बुमराह की गेंद को लेफ्ट करने के दौरान बोल्ड हो गए। शॉन मार्श 5 रन बनाकर शमी की गेंद को पुल करने के प्रयास में विकेटकीपर पंत को कैच थमा बैठे। ईशांत ने इसके बाद पीटर हैंड्सकॉम्ब (13) को एलबीडब्ल्यू किया। ट्रेविस हेड ने शमी की गेंद पर थर्डमैन पर ईशांत को कैच थमाया। इसके बाद ख्वाजा और कप्तान पेन ने महत्वपूर्ण साझेदारी कर अपनी टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया लेकिन जैसे ही भारत को पेन का विकेट मिला उसने ऑस्ट्रेलिया की पारी समेटने में देर नहीं की। इससे पहले विराट कोहली के शतक (123) के बावजूद भारत की पहली पारी 283 रनों पर सिमटी, विराट कोहली के अलावा अजिंक्य रहाण ने भी 51 रन की पारी खेली। वहीं ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 326 रन बनाए, उसकी तरफ से फिंच, हैरिस और हेड ने अर्धशतकीय पारी खेली।
2018 में इंडिया के बाहर आखिरी पारी में भारत नहीं जीत पाया एक भी टेस्ट
पर्थ टेस्ट में इंग्लिश में लड़ रहे थे कोहली आैर पेन, पढ़ें हिंदी में क्या है उसका मतलब



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.