Ind Vs Ban हैट्रिक मैन दीपक चाहर को नहीं पसंद हैं टैटू कोहली से पहले बना लिए थे सिक्स पैक एब्स

2019-11-11T09:27:49Z

भारत बनाम बांग्लादेश के बीच नागपुर में खेले गए तीसरे और आखिरी टी20 में भारत को शानदार जीत मिली। इस जीत के हीरो तेज भारतीय गेंदबाज दीपक चाहर रहे। आइए जानें चाहर की निजी जिंदगी से जुड़ी रोचक बातें

कानपुर। बांग्लादेश के खिलाफ नागपुर टी-20 में हैट्रिक लेकर चर्चा में आए दीपक चाहर भारत के उभरते तेज गेंदबाज हैं। हालांकि चाहर मौजूदा भारतीय टीम के खिलाड़ियों से थोड़ा अलग हैं। चाहर की निजी जिंदगी की बात करें तो उनको टैटू बिल्कुल पसंद नहीं है। वह फिटनेस फ्रीक हैं और कम उम्र से ही जिम ज्वाॅइन कर लिया था। यही वजह है कि विराट कोहली से पहले दीपक चाहर के सिक्स पैक एब्स आ गए थे।
7 अगस्त 1992 को उत्तर प्रदेश के आगरा में जन्में दीपक चाहर ने 12 साल की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया था। हालांकि यूपी में पैदा होने के बावजूद दीपक ने अपने क्रिकेटिंग करियर की शुरुआत राजस्थान से की, हालांकि उन्हें फर्स्ट क्लॉस क्रिकेट में जगह इतनी आसानी से नहीं मिली। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, साल 2008 में जब ग्रेग चैपल राजस्थान क्रिकेट असोसिएशन अकादमी के डायरेक्टर थे तब उन्होंने चाहर को रिजेक्ट कर दिया था।

रिजेक्शन के बावजूद चाहर ने हिम्मत नहीं हारी। अगले दो साल उन्होंने कड़ी मेहनत की और राजस्थान टीम में जगह बनाई। 2010 में दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने हैदराबाद के खिलाफ अपना पहला प्रथम श्रेणी मैच खेला। डेब्यू मैच को चाहर ने अपनी शानदार गेंदबाजी से यादगार बना दिया। पहले मैच में चाहर ने 10 रन देकर 8 विकेट चटकाए। हैदराबाद की पूरी टीम 21 रन पर ऑलआउट हो गई थी। फर्स्ट क्लॉस क्रिकेट में यह किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सबसे कम स्कोर है।
चाहर का पहला रणजी सीजन काफी अच्छा गुजरा। वह दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। चाहर के खाते में 30 विकेट आए थे। बस यहीं से चाहर की दुनिया बदल गई। इसके बाद 2011 में उन्हें आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स टीम में शामिल कर लिया गया।
साल 2011 से 2015 तक दीपक चाहर आईपीएल में राजस्थान की तरफ से खेले। इसके बाद अगले दो साल उन्हें राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स ने अपनी टीम में शामिल कर लिया। हालांकि इस टीम के साथ उनका प्रदर्शन थोड़ा निराशाजनक रहा।
2018 आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के खेमे में शामिल होते ही चाहर की किस्मत बदल गई। न सिर्फ गेंद से बल्कि बल्ले से भी उन्होंने धमाकेदार प्रदर्शन किया। यही नहीं 2018 का आईपीएल खिताब भी उनकी टीम चेन्नई ने ही जीता।
दीपक चाहर के भाई राहुल चाहर भी क्रिकेटर हैं। इस साल आईपीएल में दीपक जहां चेन्नई की टीम का हिस्सा थे तो वहीं राहुल मुंबई इंडियंस के लिए खेल रहे थे।
चाहर ने भारत के लिए आठ इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इसमें एक वनडे और सात टी-20 मैच शामिल हैं। चाहर ने अफगानिस्तान के खिलाफ पिछले साल वनडे डेब्यू किया था और पहले ही मैच में विकेट चटकाया। वहीं टी-20 की बात करें तो, क्रिकेट के इस छोटे फाॅर्मेट में चाहर ने सात मैच खेलकर 14 विकेट अपने नाम किए।
बांग्लादेश के खिलाफ नागपुर टी-20 में तो चाहर ने छह विकेट लेकर इतिहास रच दिया। चाहर ने इस मुकाबले में 3.2 ओवर में मात्र 7 रन देकर 6 विकेट लिए। इसी के साथ टी-20 इंटरनेशनल में किसी भी गेंदबाज का यह अभी तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।


Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.