Ind Vs Nz 15 साल मेहनत कर धोनी ने जो रिकाॅर्ड बनाया उसे एक शाॅट में तोड़ देंगे रोहित

2019-01-31T09:00:51Z

भारत बनाम न्यूजीलैंड के बीच चौथा वनडे गुरुवार को हैमिल्टन में खेला जाएगा। इस मैच में रोहित शर्मा कप्तानी करेंगे। इसी के साथ उनके पास पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी का एक बड़ा रिकाॅर्ड तोड़ने का मौका होगा।

कानपुर। भारत बनाम न्यूजीलैंड के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज का चौथा मैच हैमिल्टन में खेला जाएगा। यह मैच रोहित शर्मा के लिए काफी खास होगा। हिटमैन नाम से मशहूर रोहित का यह 200वां वनडे मैच होगा। इस मैच को यादगार बनाने के लिए रोहित धोनी का सालों पुराना रिकाॅर्ड तोड़ने की कोशिश करेंगे। दरअसल वनडे क्रिकेट में अभी तक सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज एमएस धोनी हैं। धोनी के नाम 215 सिक्स दर्ज हैं हालांकि न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे मैच में रोहित ने धोनी के 215 छक्कों की बराबरी तो कर ली, मगर अब रोहित ने एक भी छक्का लगा दिया तो वह 'सिक्सर किंग' बन जाएंगे।
रोहित के एक शाॅट से टूट जाएगा माही का रिकाॅर्ड

महेंद्र सिंह धोनी को छक्कों का ये अनोखा रिकाॅर्ड बनाने में करीब 15 साल लग गए। माही ने 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे डेब्यू किया था। तब से लेकर अब तक उनके खाते में 215 छक्के दर्ज हो पाए। वहीं रोहित अपने साथी खिलाड़ी धोनी से तीन साल पहले ही यह मुकाम हासिल कर लेंगे। रोहित को इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते अभी 12 साल हुए हैं, आैर वह धोनी के छक्कों के बराबर पहुंच गए। न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथे वनडे में रोहित अगर कम से कम एक छक्का भी लगाते हैं तो माही का सालों पुराना रिकाॅर्ड पल भर में टूट जाएगा।
सिर्फ दो खिलाड़ियों ने छुआ 200 का आंकड़ा
बताते चलें कि भारतीय क्रिकेट इतिहास में एमएस धोनी आैर रोहित शर्मा ही एेसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने वनडे क्रिकेट में 200 या उससे ज्यादा छक्के लगाए। इस लिस्ट में तीसरा नाम पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का आता है जिनके नाम 195 सिक्स दर्ज हैं।
ये हैं सबसे ज्यादा वनडे सिक्स लगाने वाले 5 भारतीय -

भारतीय खिलाड़ीवनडे सिक्सएमएस धोनी215रोहित शर्मा215सचिन तेंदुलकर195सौरव गांगुली189युवराज सिंह153

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.