India vs South Africa 2nd Test: पुणे क्रिकेट ग्राउंड पर विराट कोहली नहीं दोहराना चाहेंगे इतिहास

भारत बनाम साउथ अफ्रीका के बीच दूसरा टेस्ट मैच पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेला जाएगा। यह वो मैदान है जहां भारत को टेस्ट में कभी जीत नहीं मिली।

Updated Date: Wed, 09 Oct 2019 11:43 AM (IST)

कानपुर। भारत बनाम साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेला जाएगा। यह वो मैदान है जहां भारत को टेस्ट में कभी जीत नहीं मिली। ऐसे में विराट कोहली की नजर पिछले रिकाॅर्ड पर जरूर होगी। भारत को इस सीरीज में अफ्रीका को कड़ी चुनौती देनी है तो दूसरा टेस्ट हर हाल में जीतना होेगा। मगर मैदान में उतरने से पहले विराट को पुणे के एमसीए क्रिकेट स्टेडियम का इतिहास याद करना होगा।यहां 333 रनों से हारा था भारत
पुणे के एमसीए क्रिकेट मैदान पर टीम इंडिया ने अभी तक सिर्फ एक टेस्ट मैच खेला है। जिसमें भी भारत को करारी हार मिली थी। यह मुकाबला दो साल पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला गया था। जिसमें टीम इंडिया को 333 रनों से शिकस्त झेलनी पड़ी थी। उस वक्त टीम की कमान विराट कोहली के हाथों में ही थी।कोहली जीरो पर हुए थे आउट


साल 2017 में ऑस्ट्रेलियाई टीम चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने इंडिया आई थी। सीरीज का पहला मुकाबला ही पुणे में खेला गया। तब कंगारु टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ ने टाॅस जीतकर पहले बैटिंग का निर्णय लिया। ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 260 रन बनाए। अब बारी थी टीम इंडिया की, भारत की तरफ से केएल राहुल को छोड़ कोई भी बल्लेबाज हाॅफसेंचुरी नहीं जड़ सका। कोहली तो खाता भी नहीं खोल पाए वहीं आठ बल्लेबाज दहाई के अंत भी नहीं पहुंचे थे। पूरी भारतीय टीम 105 रन पर ऑलआउट हो गई।कंगारुओं ने भारत को दिया 441 रन का लक्ष्यदूसरी पारी में कंगारुओं ने स्टीव स्मिथ के शानदार शतक की बदौलत भारत को जीत के लिए 441 रन का लक्ष्य दिया। पुणे जैसी पिच पर चौथी पारी में इतना बड़ा टारगेट अचीव करना आसान नहीं होता। पिच पर टर्न बहुत ज्यादा था जिसका फायदा ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर्स ने उठाया। नाॅथन लाॅयन और कीफ की जोड़ी ने मिलकर भारतीय बल्लेबाजों को खूब परेशान किया। इस बार कोहली जहां 13 रन बना पाए वहीं भारत के लिए सबसे ज्यादा 31 रन पुजारा के बल्ले से निकले। इस बार पूरी भारतीय टीम 107 रन पर ढेर हो गई और कंगारुओं ने यह मैच 333 रनों से जीत लिया।अफ्रीका के खिलाफ कोहली को रहना होगा अलर्ट

विराट कोहली का बतौर कप्तान पुणे में जीत का खाता नहीं खुला है। ऐसे में उन्हें प्रोटीज के खिलाफ अलर्ट रहना होगा। इस समय अफ्रीकी टीम के पास केशव महाराज, मुथुस्वामी और पिडट जैसे स्पिनर हैं। मुथुस्वामी ने तो पहले टेस्ट में विराट कोहली का ही शिकार किया था। 2012 में बना था ये मैदानपुणे का एमसीए क्रिकेट मैदान ज्यादा पुराना नहीं है। इस स्टेडियम की स्थापना साल 2012 में हुई थी और पहला मैच आईपीएल का खेला गया था। ये मुकाबला किंग्स इलेवन पंजाब बनाम पुणे वारियर्स के बीच खेला गया था। इस मैदान की दर्शक क्षमता करीब 37000 है।कब खेला गया पहला इंटरनेशनल मैचपुणे के इस मैदान में पहला इंटरनेशनल मैच 2012 में इंडिया बनाम इंग्लैंड के बीच खेला गया। ये एक टी-20 मैच था जिसमें टीम इंडिया को 5 विकेट से जीत मिली थी। वहीं एक साल बाद 2013 में भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच यहां पहला वनडे खेला गया जिसमें भारत 72 रन से हार गया था।कुल इतने मैच खेले गएपुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में अभी तक कुल 7 मैच खेले गए। जिसमें एक टेस्ट, चार वनडे और दो टी-20 मैच खेले गए थे।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.