Ind Vs SA 3rd Test हार से गुस्साए अफ्रीकी बल्लेबाज ने तोड़ी अपने हाथ की हड्डी नहीं खेल पाएगा रांची टेस्ट

2019-10-18T08:35:59Z

भारत बनाम साउथ अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट शनिवार से रांची में शुरु हो रहा है। इस टेस्ट में अफ्रीकी ओपनर बल्लेबाज एडन मार्कम नहीं खेंलगे क्योंकि उन्होंने अपने हाथ की हड्डी तोड़ ली है।

रांची (पीटीआई)। भारत बनाम साउथ अफ्रीका के बीच तीसरा और आखिरी टेस्ट शनिवार से रांची में खेला जाएगा। सीरीज में दो मैच हार चुकी अफ्रीकी टीम के पास बस इज्जत बचाने का मौका है। हालांकि इस टेस्ट में अफ्रीकी ओपनर बल्लेबाज एडन मार्कम नहीं खेलेंगे। मार्कम के हाथ में चोट लगी है जिसके चलते वह सीरीज से बाहर हो गए। क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार, "यह चोट मैच की दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाज के आउट होने के बाद हुई। मार्कम अपने प्रदर्शन से इतना निराश हुए कि उन्होंने एक ठोस वस्तु पर अपना हाथ दे मारा जिसके बाद वह चोटिल हो गए।'
कलाई की हड्डियों में फ्रैक्चर
दाएं हाथ के बल्लेबाज मार्कम के लिए भारत दौरा मिला-जुला रहा है। उन्होंने अभ्यास मैचों में दो शतक बनाए, तो वहीं टेस्ट सीरीज में अपने फॉर्म को आगे नहीं बढ़ा सके। पहले टेस्ट में 5 और 39 रन बनाने के बाद, वह दूसरे में भी कुछ कमाल नहीं कर सके। क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने एक विज्ञप्ति में कहा, 'एडेन मार्कम को पुणे में दूसरे मैच के दौरान उनकी दाहिनी कलाई पर चोट लगने के बाद तीसरे और अंतिम फ्रीडम सीरीज टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया है। टीम के डॉक्टर हशेंद्र रामजी ने कहा, Markram की कलाई के सीटी स्कैन में कलाई की हड्डियों में फ्रैक्चर पाया गया। इसलिए मेडिकल टीम ने उन्हें भारत के खिलाफ अगले टेस्ट मैच से बाहर कर दिया।

#CSAnews #BreakingNews Markram ruled out of third Test match https://t.co/rkjpA5fzGF #INDvSA pic.twitter.com/NXh2ri4zvF

— Cricket South Africa (@OfficialCSA) 17 October 2019


वापस रवाना हुए अपने देश
मार्कम गुरुवार सुबह दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना हुए। हालांकि टीम मैनेजमेंट ने उनकी जगह अभी किसी खिलाड़ी के नाम का एलान नहीं किया। निराश मार्कम ने स्वीकार किया कि उन्होंने अपनी टीम को काफी निराश कर दिया। घर जाते-जाते मार्कम ने कहा, इस तरह घर जाने का दुख है और मैं पूरी तरह से समझता हूं कि मैंने क्या गलत किया है और इसके लिए पूरी जवाबदेही लेता हूं। साउथ अफ्रीकी खेमे में इस तरह की चीजें अच्छी नहीं लगती। टीम को नीचा दिखाने के लिए मुझे सबसे ज्यादा दर्द होता है। मैंने इससे बहुत कुछ सीखा है और अन्य खिलाड़ी जो मुझे यकीन है, इससे भी सीखा है।'

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.