IPL 12 में कैसा रहा वर्ल्ड कप खेलने जा रहे भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन

2019-05-14T12:43:34Z

मुंबई इंडियंस के चैंपियन बनते ही आईपीएल 2019 का सफर खत्म हो गया। आइए जानें इस आईपीएल सीजन उन भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन कैसा रहा जो वर्ल्ड कप खेलने जा रहे।

कानपुर। आईपीएल 2019 के खत्म होते ही क्रिकेट वर्ल्ड कप का काउंट डाउन शुरु हो गया। इंग्लैंड में 30 मई को पहला वर्ल्ड कप मैच खेला जाएगा। वहीं भारत का पहला मुकाबला 5 जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ होना है। आइए जानें भारत की वर्ल्ड कप टीम में शामिल 15 खिलाड़ियों का आईपीएल 12 में कैसा रहा प्रदर्शन..

रोहित शर्मा
मुंबई इंडियंस को आईपीएल 12 खिताब दिलाने वाले कप्तान रोहित शर्मा भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज भी हैं। रोहित भारत की वर्ल्ड कप टीम में शामिल हैं। हिटमैन नाम से मशहूर रोहित से इस वर्ल्ड कप टीम को काफी उम्मीदें हैं। इस साल रोहित के आईपीएल रिकाॅर्ड पर नजर डालें तो उनका बल्ला ज्यादातर वक्त खामोश रहा है। आईपीएल 12 में उनके बल्ले से 15 मैचों में सिर्फ 405 रन निकले हैं, जिसमें सिर्फ दो अर्धशतक शामिल हैंं। ओवरऑल वह टूर्नामेंट के हाई स्कोरर की लिस्ट में 15वें नंबर पर हैं।

शिखर धवन

टीम इंडिया के गब्बर कहे जाने वाले शिखर धवन के लिए आईपीएल 12 काफी बेहतरीन रहा। गब्बर टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बने। दिल्ली कैपिटल्स टीम में शामिल शिखर ने 16 मैच खेले जिसमें 34.73 की औसत से 521 रन बनाए। इसमें पांच अर्धशतक भी शामिल हैं। एक मैच में तो धवन तीन रन से शतक से चूक गए थे। बाएं हाथ के बल्लेबाज शिखर की मौजूदा फाॅर्म को देखते हुए वह वर्ल्ड कप में वह भारतीय टीम के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं।

विराट कोहली

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली जब नीली जर्सी में मैदान में उतरते हैं तो उनसे बेहतर बल्लेबाज कोई नहीं होता। मगर आईपीएल में इस साल कोहली का बल्ला खामोश रहा है। इंडियन प्रीमियर लीग में राॅयल चैलेंजर्स बैंबलोर की कप्तानी कर रहे विराट कोहली के बल्ले से इस साल 464 रन निकले। हालांकि उन्होंने एक शतक और दो अर्धशतक जरूर लगाए। वह टाॅप रन स्कोरर की लिस्ट में 8वें नंबर पर हैं। हालांकि विराट वर्ल्ड कप में विराट की आईपीएल फाॅर्म से ज्यादा फर्क नहीं पड़ने वाला क्योंकि भारत के लिए कोहली लगातार रन बनाते आए हैं।
केएल राहुल
भारत के दाएं हाथ के मध्यक्रम बल्लेबाज केएल राहुल के लिए आईपीएल 12 गोल्डन सीजन की तरह रहा। राहुल इस सीजन सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज हैं। किंग्स इलेवन पंजाब के खेमे में शामिल केएल ने 14 मैचों में 593 रन बनाए। इसमें एक शतक और छह अर्धशतक भी शामिल हैं। डेविड वार्नर के बाद केएल राहुल ही आईपीएल 12 के टाॅप स्कोरर हैं। ऐसे में राहुल की मौजूदा फाॅर्म उन्हें वर्ल्ड कप में काफी मदद कर सकती है।

विजय शंकर

सिर्फ 9 वनडे मैच खेलकर भारत की वर्ल्ड कप टीम में शामिल विजय शंकर से टीम सलेक्टर्स को काफी उम्मीदे हैं। शंकर गेंद और बल्ले दोनों से कमाल दिखा सकते हैं। हालांकि आईपीएल 12 में उनका जादू देखने को नहीं मिला। सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हुए शंकर ने 15 मैचों में 20.33 की औसत से मात्र 244 रन बनाए। इस दौरान वह एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाए। वहीं गेंदबाजी की बात करें तो विजय के नाम इस साल आईपीएल में सिर्फ एक विकेट दर्ज है।
एमएस धोनी
भारत को 2011 वर्ल्ड कप दिलाने वाले पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी का इस साल आईपीएल में अलग अंदाज दिखा। कप्तानी से लेकर बैटिंग और कीपिंग तक, माही ने हर क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन किया। धोनी के बल्ले से इस साल 15 मैचों में 416 रन निकले। जिसमें तीन अर्धशतक भी शामिल हैं। हालांकि धोनी की टीम सीएसके खिताब जीतने से एक कदम दूर रह गई।
केदार जाधव
आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा रहे मध्यक्रम बल्लेबाज केदार जाधव के लिए आईपीएल 12 कुछ खास नहीं रहा। जाधव ने 14 मैच खेलकर सिर्फ 162 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से मात्र एक अर्धशतक निकला। यही नहीं जाधव बीच टूर्नामेंट में चोटिल भी हो गए। ऐसे में वह वर्ल्ड कप तक फिट हो पाएंगे या नहीं। इसको लेकर भी संदेह हैं।
दिनेश कार्तिक
निदाहास ट्रॉफी में छक्का मारकर भारत को फाइनल जिताने वाले दिनेश कार्तिक आईपीएल के 12वें सीजन में केकेआर की कप्तानी करते हुए नजर आए। मौजूदा सीजन में कार्तिक के बल्ले से 14 मैचों में 253 रन निकले हैं। जिसमें दो अर्धशतक शामिल हैं। इस लिहाज से देखें तो कार्तिक भी आउट ऑफ फाॅर्म हैं। हालांकि वर्ल्ड कप में वह कैसा प्रदर्शन करेंगे यह तो वक्त बताएगा।
युजवेंद्र चहल
अपनी फिरकी के जादू में बड़े-बड़े बल्लेबाजों को फंसाने वाले भारतीय स्पिनर युजवेंद्र चहल के नाम आईपीएल 12 में 18 विकेट दर्ज हैं। चहल भारतीय स्पिन गेंदबाजी की मुख्य कड़ी हैं। ऐसे में उनकी मौजूदा फाॅर्म इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में काफी काम आएगी। बता दें चहल का विदेशी बल्लेबाजों के खिलाफ रिकाॅर्ड काफी अच्छा है। भारत को वर्ल्ड कप जीतना है तो चहल को अपनी स्पिन गेंदबाजी का नमूना फिर पेश करना होगा।
कुलदीप यादव
युजवेंद्र चहल की तरह कुलदीप यादव भी भारतीय वर्ल्ड कप टीम के प्रमुख स्पिन गेंदबाज हैं। केकेआर में शामिल कुलदीप ने इस साल सिर्फ 9 मैच खेेले जिसमें वह सिर्फ 4 विकेट ले पाए। वर्ल्ड कप से पहले यादव का यह रिकाॅर्ड कप्तान कोहली के लिए चिंता का सबब हो सकता है। मगर इंटरनेशनल मैचों में कुलदीप का गेंदबाजी रिकाॅर्ड देखें तो वह 44 वनडे मैचों में 87 विकेट अपने नाम कर चुके हैं।

भुवनेश्वर कुमार

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार से भी इस आईपीएल उनकी टीम को काफी उम्मीदें थीं। मगर हैदराबाद के ये गेंदबाज अपने नाम के अनुरुप प्रदर्शन नहीं कर पाया। भुवी ने इस आईपीएल सीजन 15 मैच खेले जिसमें सिर्फ 13 विकेट ले पाए। टीम इंडिया के फैंस चाहेंगे कि वर्ल्ड कप में दाएं हाथ के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर की फाॅर्म सुधर जाए।

जसप्रीत बुमराह

दुनिया के सबसे खतरनाक डेथ ओवर गेंदबाज माने जाने जसप्रीत बुमराह के लिए आईपीएल 12 काफी बेहतर रहा है। न सिर्फ उनकी टीम मुंबई इंडियंस आईपीएल चैंपियन बनी बल्कि बुमराह ने भी इस साल 19 बल्लेबाजों का शिकार किया। सबसे हैरानी की बात ये है कि टी-20 जैसे क्रिकेट में बुमराह का इकनाॅमी सिर्फ 6.63 का रहा।
हार्दिक पांड्या
आईपीएल 12 विनर हार्दिक पांड्या ने इस सीजन बल्लेबाजी में जो दम-खम दिखाया, उससे सिर्फ विरोधी खेमे ही नहीं भारतीय खिलाड़ी भी हैरान हैं। इस साल धोनी से ज्यादा हेलिकाॅप्टर शाॅट तो पांड्या के बल्ले से देखने को मिले। मुंबई इंडियंस के लिए हार्दिक ने डेथ ओवरों में काफी विस्फोटक बल्लेबाजी की। यही वजह है कि निचले क्रम में बल्लेबाजी करने के बावजूद पांड्या के नाम 402 रन दर्ज हैं। यही नहीं 17 गेंदों में उनकी फिफ्टी कोई नहीं भूल सकता।
रवींद्र जडेजा
बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज रवींद्र जडेजा भी इस आईपीएल अपने नाम के अनुरुप प्रदर्शन नहीं कर पाए। जडेजा अपनी फिरकी के लिए जाने जाते हैं। इस सीजन उन्होंने 16 मैचों में सिर्फ 15 विकेट निकाले। वहीं बल्ले से सिर्फ 106 रन निकले।

IPL फाइनल : खून से लथपथ पैर के साथ खेल रहे थे वाटसन, आउट होने तक नहीं बताया किसी को

IPL 12 : अंपायर के दरवाजा तोड़ने से लेकर धोनी की लड़ाई तक, इस आईपीएल क्या-क्या हुआ पहली बार
मोहम्मद शमी
सीमित ओवरों के खेल में मोहम्मद शमी का प्रदर्शन लगातार बेहतर होता आया है। यही वजह है कि उन्हें भारतीय वर्ल्ड कप टीम में मौका मिला। आईपीएल 12 में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते हुए शमी ने 14 मैचों में 19 विकेट लिए।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.