पुलवामा हमला अमेरिका में पाकचीन दूतावास के सामने भारतीयों का प्रदर्शन पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने की मांग

2019-02-23T16:52:30Z

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर अमेरिका में रहने वाले भारतीय समुदाय ने पाकिस्तान और चीन के दूतावास के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके अलावा उन्होंने पकिस्तान के खिलाफ नारे भी लगाए।

वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका के शिकागो में स्थित पाकिस्तान और चीन के दूतावास के बाहर शुक्रवार को भारतीय समुदाय के लोगों ने शांति प्रदर्शन किया। भारतीय-अमेरिकियों ने शिकागो में चीनी वाणिज्य दूतावास से अनुरोध किया कि वह संयुक्त राष्ट्र में कट्टरपंथी आतंकवादियों का समर्थन नहीं करें। बता दें कि चीन संयुक्त राष्ट्र का एक स्थाई सदस्य है, अमेरिका में भारतीय शांति प्रदर्शन के दौरान चीन से लगातार यह मांग कर रहे थे कि वह पाकिस्तान समर्थित आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) के प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र में इंटरनेशनल आतंकी घोषित कराने में भारत की मदद करे, जिसे चीन ने कुछ दिनों पहले संयुक्त राष्ट्र में वैश्विक आतंकी घोषित करने से इनकार कर दिया था।

लग रहे भारत माता की जय के नारे

भारतीय अमेरिकी सांस्कृतिक केंद्र के अध्यक्ष भरत बरई ने शिकागो में चीन के महावाणिज्य दूतावास को कहा, 'चीन को पाकिस्तान से कहना चाहिए कि वह अपने देश में आतंकवाद का समर्थन करना बंद करे।' शिकागो में चीनी वाणिज्य दूतावास के सामने भारतीय-अमेरिकी समुदाय द्वारा यह पहला विरोध प्रदर्शन था। कई भारतीय-अमेरिकियों ने शिकागो में पाकिस्तानी वाणिज्य दूतावास के सामने भी खूब विरोध प्रदर्शन किया। न्यूज चैनल द्वारा एक वीडियो में देखा गया कि भारतीय पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने की मांग के साथ 'भारत माता की जय' का नारा लगा रहे हैं।

पिछले गुरुवार को हुआ हमला

बता दें कि बीते गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले से 41 जवान शहीद हुए थे। यह हमला जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद ने विस्फोटक कार के जरिए किया। इसके बाद पूरे देश में लोगों में पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोश है।

पुलवामा हमले के 5 दिन बाद सेना में भर्ती होने के लिए उमड़े देश भक्त कश्मीरी युवा

जब सीआरपीएफ ने खट्टे कर दिए थे पाकिस्तानी फौज के दांत

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.