ब्रिटेन की मेन स्ट्रीम से लेकर स्टूडेंट पॉलिटिक्स में इन दिन भारतवंशियों की धूम है। ब्रिटेन के पीएम पद की लड़ाई में कांटे की टक्कर दे रहे भारतवंशी ऋषि सुनक की पूरी दुनिया में चर्चा है। दूसरी तरफ इस साल ब्रिटेन की तीन यूनिवर्सिटी एवं कॉलेज के स्टूडेंट यूनियन पर भारतीय छात्रों ने कब्जा जमाया। तीनों छात्र भारत की सियासत के केंद्र बिंदु रहे उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखते हैं।


कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। हाल ही में यूनाइटेड किंगडम की डरहम यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट मथुरा के आदित्य सिंह लाठर बने हैं। आदित्य डरहम यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन में जीत हासिल करने वाले पहले भारतीय हैं। आदित्य ने छात्र संघ उपचुनाव में ये जीत हासिल की है। आदित्य ने स्कूली पढ़ाई दिल्ली के मॉडर्न स्कूल से पूरी की। राजनीतिक रुझान का ही असर रहा कि साल 2019 में दिल्ली विश्वविद्याल से ग्रेजुएशन की डिग्री पॉलिटिकल साइंस में हासिल की। उसके बाद लॉ की डिग्री के लिए ब्रिटेन की प्रतिष्ठित डरहम यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया। आदित्य जून 2020 से ही डरहम इंडियन सोसायटी के प्रेसिडेंट हैं। जुलाई 2020 से स्टीफनसन कॉलेज जेसीआर में इंटरनेशनल ऑफिसर हैं। साथ ही नेशनल यूनियन ऑफ स्टूडेंट्स (यूके) में पार्ट टाइम डेलिगेट भी हैं। आदित्य उत्तर प्रदेश विधान परिषद में विपक्ष के नेता रह चुके संजय लाठर के बेटे हैं।
मोहम्मद यासिर लंदन के किंग्स काॅलेज स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट


उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहम्मद यासिर खान किंग्स कॉलेज लंदन के स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट है। उनका कार्यकाल इसी साल के जुलाई महीने से शुरू हुआ। किंग्स कॉलेज के 149 साल के इतिहास में पहली बार किसी भारतीय के हाथ स्टूडेंट यूनियन की कमान है। यासिर लंदन में इंटरनेशनल रिलेशन की शिक्षा ले रहे हैं। यासीर ग्रेजुएशन के स्टूडेंट है। 40 हजार छात्रों वाले किंग्स कॉलेज में करीब 150 देशों के स्टूडेंट पढ़ाई करते हैं। उनके पिता कारोबारी हैं। वे सोशल वर्क की वजह से कॉलेज के छात्रों में काफी लोकप्रिय हैं।सुशांत सिंह लंदन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओरिएंटल एंड अफ्रीकन के छात्र संघ अध्यक्षइस वर्ष अप्रैल में लंदन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओरिएंटल एंड अफ्रीकन के छात्र संघ चुनाव में बुलंदशहर के सुशांत सिंह प्रेसीडेंट चुने गए। बुलंदशहर के अनूपशहर तहसील के सुशांत सिंह ने लंदन जाने से पहले दिल्ली स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से बीए व एलएलबी की डिग्री हांसिल की थी। इससे पहले 2021 में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में भी इतिहास रचा गया था। रश्मि सामंत ने यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन का चुनाव जीतने वाली पहली भारतीय बनीं। हालांकि कुछ विवाद के बाद उन्होंने पद से इस्तीफा दिया था। इस विवाद के बाद रश्मि को ब्रिटेन समेत पूरी दुनिया में भारतवंशी के साथ विदेशी छात्रों का अभूतपूर्व समर्थन मिला था।

Posted By: Inextlive Desk