Coronavirus का इलाज ढूंढ़ने के बेहद करीब पहुंचा ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल का वैज्ञाानिक

Updated Date: Fri, 07 Feb 2020 11:21 AM (IST)

चीन से पूरी दुनिया में फैले जानलेना कोरोना वायरस का इलाज जल्द ही मिलने वाला है। ऑस्ट्रेलिया में भारतीय मूल का एक साइंटिस्ट मानव शरीर से कोरोना वायरस को निकालने में कामयाब हो गया है। उम्मीद है जल्द ही कोरोना वायरस का वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगा।

कानपुर। पूरी दुनिया में इस समय कोरोना वायरस से सैकड़ों मौतें हो चुकी हैं। चीन से हर जगह फैले इस कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ़ने के लिए हर देश में अलग-अलग टीमें अपनी तरह से रिसर्च में जुटी हैं। फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में एक भारतीय मूल के साइंटिस्ट को कोरोना वायरस से निपटने में कामयाबी मिल गई है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया की काॅमनवेल्थ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिचर्स ऑर्गेनाइजेशन (सीएसआईआरओ) में कार्यरत प्रोफेसर एसएस वासन कोरोना वायरस का इलाज ढूंढने के काफी करीब पहुंच चुके हैं।

जल्द ही मिल जाएगा इलाज

पिछले हफ्ते ऑस्ट्रेलिया की डोहार्टी इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने मानव शरीर से कोरोना वायरस को निकालने में कामयाबी हासिल की थी। इसके बाद इस वायरस को सीएसआईआरओ लाया गया जहां इस पर अध्ययन जारी है। इस रिचर्स को लेकर एसएस वासन ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, 'हम डोहार्टी इंस्टीट्यूट के साथियों को धन्यवाद देना चाहेंगे जिन्होंने वायरस निकालकर हमें दिया ताकि उस पर रिचर्स की जा सके। फिलहाल पूरी टीम इस पर गहन अध्ययन कर रही है। इस वायरस के विकास के लक्षण और अन्य कारकों का पता लाकर इसका वैक्सीन बनाया जा सकेगा।'

चीन में कोरोना वायरस के चलते 563 मौतें

चीन में कोरोना वायास के चलते अब तक 563 मौतें हो चुकी हैं। गुरुवार तक चीन के हेल्थ डिपार्टमेंट ने 28 से ज्यादा और संक्रमित लोगों की लिस्ट जारी कर दी है। कोरोना वायरस के चलते ग्लोबल इमरजेंसी घोषित कर चुके वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन का कहना है कि यह वायरस इंसान और जानवरों दोनों में पाया जाता है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.