टीसीएस को रिकार्ड मुनाफा इंफोसिस का भी लाभ बढ़ा

2019-04-12T19:25:03Z

भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों टीसीएस व इंफोसिस दोनों ने ही मुनाफे में बढ़ोतरी दर्ज की है। बीते वित्‍तीय वर्ष की आखिरी तिमाही में टीसीएस को रिकॉर्ड मुनाफा हुआ है। वहीं इंफोसिस ने भी मुनाफे में बढ़ोतरी दर्ज की है।

कानपुर। देश के आईटी सेक्टर की मजबूत कंपनियों में शुमार और आईटी एक्सपोर्ट में बड़ा योगदान देने वाली टीसीएस व इंफोसिस के वित्तीय वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही के नतीजे आ गए हैं। दोनों ने ही मुनाफे में बढ़त दर्ज की है।

टीसीएस का रेवेन्यू व मुनाफा दोनों ही बढ़ा    

देश की सबसे बड़ी आईटी सर्विसेज कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज (टीसीएस) को जनवरी-मार्च तिमाही में 8126 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। साल 2018 की इसी तिमाही में यह 6904 करोड़ रुपए रहा था। टीसीएस का रेवेन्यू इस दौरान 18.5 प्रतिशत अधिक रहा। यह बढ़ोतरी बीएफएसआई (बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज व इंश्योरेंस) सेगमेंट में कंपनी के शानदार प्रदर्शन के चलते संभव हुई बताई जाती है।

इंफोसिस का भी बढ़ा मुनाफा
भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी सर्विसेज कंपनी इंफोसिस ने बीते वित्तीय वर्ष की चौथी तिमाही के मुनाफे में 10.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। वित्तीय वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 10.4 प्रतिशत बढ़कर 4,074 करोड़ रुपये रहा। इससे पिछले वित्तीय वर्ष की इसी तिमाही में उसे 3,690 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था। कंपनी को चालू वित्तीय वर्ष में सालाना कारोबार में 7.5 से 9.5 प्रतिशत वृद्धि की उम्मीद है।

इन्फ़ोसिस के मुनाफ़े में आई गिरावट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.