एक चोर के घर से 15 देशों की करेंसी बरामद 15 घंटे तक चली रेड

2019-10-15T13:08:31Z

जेल में बंद अपराधी धीरज जालान के घर चली पुलिस की 15 घंटे से अधिक छापेमारी के बाद कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैैं जो पुलिस अधिकारियों के लिए चुनौती बन गए हैैं।

रांची (ब्यूरो)। घर से करीब 15 देशों की इंटरनेशनल करेंसी बरामद हुई है। धीरज के घर से इंडोनेशिया, बांग्लादेश, मलेशिया, भूटान, अफगानिस्तान, ईरान, ओमान, सउदी अरब, वियतनाम, नेपाल, यूनाइटेड अरब, पाकिस्तान, अमेरिका, थाईलैैंड व रूस की करेंसी बरामद हुई है। अब पुलिस यह खंगाल रही है कि यह गिरोह कहीं इंटरनेशनल करेंसी चोर तो नहीं। गैैंग के निशाने पर कहीं विदेशी सैलानी तो नहीं रहे। कई कांडों की समीक्षा करने की तैयारी चल रही है।
विदेशी टूरिस्ट्स को तो नहीं बनाया शिकार

इतनी भारी तादाद में विदेशी करेंसी मिलने के बाद पुलिस सकते में है कि कहीं इस गैैंग ने विदेशी टूरिस्ट्स के साथ तो वारदातों को अंजाम नहीं दिया है। गिरोह के गिरफ्तार सदस्य कुणाल से पूछताछ जारी है। साथ ही धीरज जालान समेत जेल में बंद गिरोह के अन्य मेंबर्स को भी रिमांड पर लिया जाएगा।
डोरंडा कांड में स्वीकारी संलिप्तता
डोरंडा थाना क्षेत्र से डॉ रंजन की कार का शीशा तोड़कर लाखों रुपए की चोरी की तफ्तीश में जुटी पुलिस को जानकारी मिली कि रांची के चुटिया इलाके में रहने वाले कुणाल पासवान ने इस वारदात को अंजाम दिया है। कुणाल की तलाश में जुटी पुलिस को यह मालूम चला कि वह बिहार के बाढ़ इलाके में छुप कर रहा है। रांची पुलिस की एक टीम तुरंत कुणाल की तलाश में निकली और आखिरकार रविवार की सुबह उसे बाढ़ से गिरफ्तार कर लिया गया।
धीरज के इशारे पर 100 से अधिक वारदात
पूछताछ के दौरान कुणाल ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि वह जेल में बंद कुख्यात चोर धीरज के लिए काम करता है और उसके इशारे पर गिरोह के लोगों ने रांची में 100 से अधिक चोरी की वारदातों को अंजाम दिया है। धीरज ने पुलिस को यह भी बताया कि चोरी का पूरा सामान धीरज के किशोरगंज स्थित घर पर रखा हुआ है।
निशानदेही पर छापेमारी, लाखों के सामान बरामद
कुणाल की निशानदेही पर रांची के कुख्यात शातिर धीरज जालान के ठिकाने पर छापेमारी की गई है। रांची पुलिस रविवार की शाम हरमू रोड स्थित धीरज के ठिकाने पर छापेमारी की। वहां से भारी मात्रा में गहने, विदेशी करेंसी, दो दर्जन से अधिक लैपटॉप, कैश, 300 हेलमेट, सैकड़ों मोबाइल सहित कई कीमती सामान बरामद किए गए हैं। इसके अलावा डोरंडा, टाटीसिल्वे, नामकुम सहित अन्य इलाकों में भी छापेमारी कर कई सामान बरामद किए गए हैं। कुणाल ने रांची पुलिस को यह भी बताया कि धीरज जालान का गिरोह ही सिटी में कार का शीशा तोड़कर चोरी को अंजाम देता है।
गिरोह में दर्जनों क्रिमिनल्स
धीरज के गिरोह से दर्जनों क्रिमिनल्स जुड़े हैं। धीरज जालान फिलहाल बाइक चोरी गिरोह चलाने के अलावा कई मामलों में जेल में बंद है। जेल में रहते हुए भी गिरोह चला रहा था। छापेमारी टीम में सिटी डीएसपी अमित सिंह। कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार बिमल, डीएसपी यशोदरा, कोतवाली थानेदार श्यामानंद मंडल सहित कई थानेदार शामिल थे।
'पुलिस फिलहाल मामले की गहराई से छानबीन कर रही है। गिरोह के सदस्यों को वेरिफाई किया जा रहा है। जल्द ही बड़े खुलासे हो सकते हैं।'
- अनीश गुप्ता, एसएसपी, रांची
ranchi@inext.co.in


Posted By: Inextlive Desk

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.