योग से विश्व को निरोग बनाना भारत की परिकल्पना सीएम

2019-03-01T06:00:39Z

- ऋषिकेश में पर्यटन विकास परिषद और जीएमवीएन का इंटरनेशनल योग वीक शुरू

- मैं विश्व को गंगेज नहीं गंगा बोलना सिखाऊंगा: कैलाश खैर

RISHIKESH: भारत की परिकल्पना विश्व को निरोग बनाने की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया को योग की ताकत का एहसास कराया है। यह बात उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ऋषिकेश में इंटरनेशनल योग महोत्सव के उद्घाटन अवसर पर कही। इस दौरान सूफी गायक कैलाश खैर की प्रस्तुतियों ने समा बांध दिया। कैलाश खैर ने कहा कि मैं विश्व को गंगेज नहीं गंगा बोलना सिखाऊंगा।

सीएम ने किया योग सप्ताह का उद्घाटन

थर्सडे को ऋषिकेश में उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद और गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग सप्ताह का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि योग आत्मा को परमात्मा से जोड़ता है। उन्होंने कहा कि सर्वे भवंतु सुखिन: सर्वे भवंतु निरामया की भावना भी तभी साकार होगी जब हम योग को अपने जीवन में उतारेंगे। इस दौरान वह गंगा आरती में भी शामिल हुए। कार्यक्रम में प्रख्यात सूफी गायक कैलाश खेर की प्रस्तुतियों ने समा बांध दिया। इस अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, ऋषिकेश की महापौर अनीता ममगाई और पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर उपस्थित थे।

मैं विश्व को गंगेज नहीं गंगा बोलना सिखाऊंगा: कैलाश खेर

प्रख्यात सूफी गायक कैलाश खेर ने कहा कि तीर्थनगरी किसी देवलोक से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि देश-विदेश में रह रहे कई लोग मां गंगा को गंगेज कहते हैं, मैं उन्हें गंगा बोलना सिखाऊंगा। इसके लिए मेरे पास सबसे बड़ा माध्यम गा योग है। उन्होंने कहा कि भारत प्रेम का संदेश देता है, लेकिन दुष्टों का दमन करने की ताकत भी रखता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.