ईरानी गैंग के दो सदस्य गिरफ्तार

2019-02-15T06:00:20Z

देहरादून: नेहरू कॉलोनी के सनातन धर्म मंदिर के पुजारी से 31 जनवरी को हुई ठगी के मामले में पुलिस ने ईरानी गैंग के दो शातिरों को गिरफ्तार किया है। घटना में शामिल एक अन्य सदस्य फरार है। गिरफ्तार आरोपियों में से एक किराए का कमरा लेकर दून में रहता है और जैमेटो फूड में डिलीवरी का काम करता है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से चोरी के गहने और नगदी बरामद कर ली है।

जयपुर से दबोचा एक आरोपी

पुलिस ने बुधवार को एक आरोपी अली हुसैन पुत्र नूर मोहम्मद को जयपुर से गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से तीन अंगुठियां और 50 हजार रुपये बरामद कर लिए हैं। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने गुरुवार को दून में रहने वाले गैंग के एक और सदस्य सलमान अली पुत्र स्व। यूसुफ अली निवासी लेसवाड़ा, देवबंद, सहारनपुर को चांचक से गिरफ्तार कर लिया है। तीसरा आरोपित सैयद कादिर अभी फरार चल रहा है।

पुलिस ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि अली हसन एवं उसका साथी सैयद कादिर 30 जनवरी को देहरादून आकर अपने तीसरे साथी सलमान के कमरे में रुके थे। सलमान यहां जोमैटो फूड में डिलीवरी में काम करता है और उसने किराये का कमरा लिया है। सलमान के कमरे में ही उन्होंने ठगी की योजना बनाई। इसके बाद अगले दिन तीनों ने रैकी कर सनातन धर्म मंदिर को निशाना बनाया। इसके लिए सलमान ने ही दोनों को बाइक और हेलमेट उपलब्ध कराए। पुजारी को ठगने के बाद दोनों फिर सलमान के कमरे पर गए और वहीं रुके। अगले दिन वह बस से जयपुर निकल गए। बाइक और कमरे में रुकने के लिए उन्होंने सलमान को पैसे भी दिए। आरोपियों के खिलाफ अन्य राज्यों में भी कई मुकदमे दर्ज हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.