ट्रेन है लेट तो 'कैप्सूल' में करिये वेट

2019-01-01T06:00:46Z

-आईआरसीटीसी पैसेंजर्स के लिए कैंट रेलवे स्टेशन पर बनाएगा कैप्सूल होटल

-कम किराए पर ट्रेडिशनल होटल जैसे मिलेंगे हाई-फाई रूम

1ड्डह्मड्डठ्ठड्डह्यद्ब@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

ङ्कन्क्त्रन्हृन्स्ढ्ढ

अब ट्रेन लेट होने पर पैसेंजर्स को स्टेशन पर इंतजार करना भारी नहीं पड़ेगा। रेलवे स्टेशन पर ही आपके रूकने का इंतजाम करने जा रहा है। जहां आप आराम कर सकेंगे। इसके लिए आईआरसीटीसी जल्द ही एसी पॉड कैप्सूल होटल बनाएगा, जिसमें किफायती आरामदायक बिस्तर के साथ हर जरूरी सुविधा मिलेगी। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन बनारस सहित देश के अन्य स्टेशंस पर ऐसे पॉड होटल बनाने की योजना पर काम कर रहा है। ऑफिसर्स के मुताबिक सिकंदराबाद के पास काचीपुरा स्टेशन पर इस पॉड होटल का ट्रायल शुरू हो गया है। जहां पैसेंजर्स इसे खूब पसंद कर रहे हैं। इससे उत्साहित आईआरसीटीसी अधिक पैसेंजर्स फ्लो वाले स्टेशन पर भी पॉड होटल बनाने की तैयारी में है। इसमें वाराणसी कैंट स्टेशन भी एक है।

कम किराए में होटल जैसा रूम

आईआरसीटीसी की ओर से स्टेशन पर बनने वाले एसी पॉड होटल का किराया सामान्य होटल से कम होगा। वहीं इनके रूम में सुविधाएं किसी अच्छे होटल के कमरे जैसी ही होगी। फिलहाल रेलवे ने इनका किराया तय नहीं किया है। खास बात यह कि पॉड होटल स्टेशन कैंपस में ही होंगे, जिससे पैसेंजर्स को प्लेटफॉर्म पर पहुंचने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। इस होटल में पैसेंजर्स को सिक्योरिटी के लिए परेशान होने की आवश्यकता नहीं होगी। जबकि बाहर के होटल में अकेले या लेडिज को ठहरने में सिक्योरिटी को लेकर टेंशन रहता है।

मिनी रूम में रहेगा सबकुछ

एसी पॉड होटल में आरामदायक और साफ-सुथरा बेड, चेंजिंग रूम, पीने का साफ पानी, वाई-फाई, मोबाइल चार्जिग प्वाइंट, स्लाइडिंग डोर्स, स्मोक डिटेक्टर के अलावा भी कई सुविधाएं पैसेंजर्स को मिलेंगी। यह रूम उन लोगों के लिए काफी सहूलियत भरे होंगे जिनकी ट्रेन कई घंटे लेट होती हैं और जो कैंपस से बाहर के होटल्स में जाकर अपनी ट्रेन का इंतजार नहीं कर सकते हैं।

ये होता है पॉड होटल

रेलवे का पॉड होटल अन्य होटलों का ही एक छोटा रुप है, जिनमें रूम इतने छोटे होते हैं कि उनमें सिर्फ एक बेड ही लगा होता है। इन होटल्स को कैप्सूल होटल भी कहते हैं। यह कांसेप्ट जापान में बहुत पहले ही डेवलप हुआ है। ये होटल्स ऐसे लोगों को सस्ते रेट पर रूम उपलब्ध कराने के लिए बनाया गया है, जो ट्रेडिशनल होटल्स में महंगे रूम लेकर नहीं रुकना चाहते। दूसरी सबसे बड़ी जगह रेलवे स्टेशन है। जहां पैसेंजर्स को कुछ घंटे ही अपनी ट्रेन के इंतजार में रुकना पड़ता है। ये लोग चाहकर भी बाहर के होटल में नहीं जाते हैं।

एसी पॉड होटल बनाने के लिए रेलवे हेड क्वार्टर को प्रपोजल भेज दिया गया है। मुहर लगते ही इसपर काम शुरू हो जाएगा।

सिद्धार्थ सिंह, पीआरओ

आईआरसीटीसी

प्वाइंट टू बी नोटेड

कैंट स्टेशन पर प्लेटफॉर्म-09

ओरिजिनेटिंग ट्रेन -39

पासिंग ट्रेन -73

टोटल ट्रेन -112

पैसेंजर्स फुट फाल-1 से 1.50 लाख डेली

रिटायरिंग एसी रुम-4

डारमेट्री एसी-10 बेड

एसी वेटिंग हॉल-1


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.