Movie Review: परिणीति चोपड़ा-सिद्धार्थ मल्होत्रा की ये 'जबरिया जोड़ी' देखने के लिए चाहिए बहुत हिम्‍मत

Updated Date: Fri, 09 Aug 2019 06:20 PM (IST)

कुछ फिल्में देखकर लगता है कि ये देखने से पहले मौत क्यों न आ गई जबरिया जोड़ी वैसी ही फ़िल्म है जिसको देखने के बाद दिल से गाली और आंखों से आंसू निकल पड़े।

कहानी
ट्रेलर में पूरी कहानी है।

रेटिंग : 1.5 स्टार

समीक्षा
बहुत साल पहले एक फिल्म आई थी 'अंतर्द्वंद्व', गजब पिक्चर थी। उस फिल्म को देखकर मुझे पहली बार पता चला था कि पकड़वा या जबरिया भी शादी करवाई जाती है और बिहार में ये प्रथा आज भी प्रचलित है। अगर दहेज नहीं दे सकते तो अपने मन पसंद के लड़के को जबरन पकड़ कर बंदूक की नोक पर शादी करवा दी जाती है। उसी थीम को हल्की फुल्की कॉमेडी फिल्म बनाने की कोशश है जबरिया जोड़ी और यकीन मानिये इतनी रद्दी है फिल्म कि पूछिए मत।

न तो यह फिल्म मुद्दे को एड्रेस कर पाती है न ही जरा भी बिलीवेबल है। नकली आर्ट डायरेक्शन, नकली कैरेक्टर , उनका नकली रहन सहन और जबरिया तरीके से बुलवाई है बिहारी हिंदी। बकलोली से भरे हुए बे सर पैर के सीन एक के बाद आते हैं और बोर करके चले जाते है। बाद में रह जाता है थका हुआ मन जो जबरन हॉल से निकलने की जिद करता है और बैकग्राउंड म्यूजिक बहुत ही बकवास हैं।

Trailer Out Now!! #JabariyaJodiTrailerhttps://t.co/nKeeVbHs8f@SidMalhotra @ektaravikapoor @RuchikaaKapoor @ShaaileshRSingh #PrashantSingh @ZeeMusicCompany #JabariyaJodiOn2ndAug

— Parineeti Chopra (@ParineetiChopra) July 1, 2019

अदाकारी
सिद्धार्थ मल्होत्रा के मुँह से डायलॉग ऐसे निकलते हैं जैसे उनसे जबरिया गनपॉइंट पर बुलवाया जा रहा है, वो काम में अनबेलिवेबल हैं लेकिन इस रोल में टोटली मिसफिट हैं। परिणीति बहुत ही थकी हुई और बोर साउंड करती हैं। संजय मिश्रा के हाथों में जो आता है वो हमेशा की तरह उसे अच्छे से निभाते हैं। जावेद जाफरी का काम अच्छा है।

बहुत ही नकली फिल्म है जिसका निर्देशन और लेखन दिशाविहीन है। जबरिया भी अगर कोई ले जाये तो मत जाइए, मायूस होंगे।

Review by: Yohaann Bhaargava

Posted By: Chandramohan Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.