जापान में बसना होगा सबसे आसान लागू होगी नई पॉलिसी

2018-10-12T15:20:42Z

जापान में कामगारों की कमी हो गई है। विदेशी लोगों को आकर्षित करने के लिए उन्होंने एक योजना का खुलासा किया है।

टोकियो (एएफपी)। दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकॉनमी जापान इन दिनों लोगों की उम्र बढ़ने और आबादी घटने को लेकर भारी कामगारों की कमी से जूझ रहा है। ऐसे में जापान ने शुक्रवार को विदेशी लोगों को आकर्षित करने की योजना का खुलासा किया है। इस योजना का उद्देश्य जापान के कृषि, नर्सिंग, कंस्ट्रक्शन, होटल और जहाज निर्माण जैसे क्षेत्रों में लोगों की भारी कमी को पूरा करना है। नई योजना के तहत, जिस क्षेत्र में लोगों की जरूरत है, उसमें विदेशी नागरिकों का कौशल देखते हुए पांच साल तक का वर्किंग वीजा दिया जायेगा।
परिवारवालों को भी ले जा सकेंगे जापान
जानकारी के मुताबिक, ऐसे विदेशी नागरिक, जिनके पास इनमें से किसी भी क्षेत्र में बेहतर क्वालिफिकेशन और स्किल्स हैं साथ ही जापानी भाषा के टेस्ट में पास करने की क्षमता रखते हैं, उन्हें अपने साथ देश में परिवार वालों को भी लाने की इजाजत दी जाएगी। इसके साथ विदेशी नागरिकों को जापान में परमानेंट रेजीडेंसी स्टेटस भी मुहैया कराई जा सकती है।  सरकारी प्रवक्ता योशीहाइड सुगा ने शुक्रवार को मीडिया से कहा कि इस बिल को जल्द ही पार्लियामेंट में प्रस्तुत किया जाएगा और अप्रैल में इसे लागू करने की उम्मीद है। बता दें कि जापान सामान्य रूप से अकुशल विदेशी कामगारों को स्वीकार करने के मामले में सतर्क रहा है और फिलहाल वहां अत्यधिक कुशल पेशेवरों को ही रेजीडेंसी स्टेटस दिया जाता है। हालांकि, सरकार ने नए प्रस्तावों के तहत विदेशी कामगारों के लिए कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं किया है।

दुनिया में इस देश के नागरिकों के पास है सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट

जापान में सफेद बाघ के खतरनाक हमले से चिड़ियाघर के संचालक की मौत


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.